गोहद(नईदुनिया न्यूज )गोहद क्षेत्र में सरसों, चना, मसूर की फसल की कटाई के लिए टीकमगढ़ और ललितपुर उत्तर प्रदेश जिले से हजारों की संख्या में फसल की कटाई के लिए मजदूर आते हैं। इस बार मौसम खराब होने के कारण फसल की कटाई युद्ध स्तर पर चालू है। जो बहुत ही जल्दी सरसों, मसूर और चना की फसल कट चुकी है। बाहरी जिले से आए मजदूर अब घर जाने की तैयारी कर चुकें हैं। लेकिन पूरे देश में लॉक डाउन होने के बाद वह अपने घर वापस नहीं लौट पा रहे है। यहां कस्बे में टीकमगढ़ जिले के मजदूरों ने फसल काटने के बाद घर पहुंचाने के लिए प्रशासन से गुहार लगा रहे है।

प्राप्त जानकारी के मुताबिक टीकमगढ़ जिले के पंचमपुरा तहसील मोहनगढ़ निवासी रामभगत, पुष्पेंद्र, भगवानसिंह, रामसखी, ममता ने बताया यहां गोहद कस्बे में हम 15 परिवार के लोग फसल काटने के लिए मजदूरी करने के लिए आए थे। उन्होंने बताया कि बुधवार शाम को हम सभी 15 परिवार फसल काटकर फ्री हो चुके हैं। अब उन मजदूरों के पास कोई काम नहीं बचा हैं, तो घर वापस जाना है। लेकिन कोरोना वायरस की महामारी के वजह से वह अपने घर नहीं जा पा रहे हैं। क्योंकि पूरे देश लॉक डाउन है। ऐसी स्थिति में ना वाहन नहीं चल रहे हैं, तो मजदूरों ने घर पहुंचाने के लिए प्रशासन से गुहार लगाई हैं।

समिति के द्वारा की जा रही व्यवस्था

गोहद कस्बे में समाजसेवा कर रही सत्य साईं सेवा समिति के द्वारा 15 परिवार के मजदूरों के लिए समिति पूरी व्यवस्था कर रही है। इसमें समिति के संयोजक अनिल शर्मा ने बताया कि कस्बे में फसल काटने के बाद मजदूर अपने घर वापस नहीं जा पा रहे हैं। ऐसे स्थिति में हमारी समिति खाने-पीने, हाथों को साफ करने के लिए साबुन की व्यवस्था के अलावा अन्य व्यवस्था कर रही हैं। इस मौके पर राजेश चौधरी, लाल राठौर, उदित शर्मा के अलावा अन्य लोग मौजूद रहे।

फोटो सहित क्रमांक 21

Posted By: Nai Dunia News Network