भिंड, नईदुनिया प्रतिनिधि। शहर के सीता नगर में 6 साल की बालिका की डेंगू की संदिग्ध रिपोर्ट आई है। हालांकि बालिका अभी पूरी तरह से स्वस्थ्य है। एतिहायत के तौर पर शुक्रवार को स्वास्थ्य विभाग की टीम ने बालिका के घर को चेक कर दवा का छिड़काव किया। टीम ने मोहल्ले में 57 घरों में 137 पानी की टंकी और ड्रम चेक किया। जांच के दौरान 3 घरों में डेंगू का लार्वा मिला है। टीम ने पानी की टंकी और ड्रम खाली कराकर समझाइश दी है। मिली जानकारी के अनुसार परी 5 पुत्री जितेन्द्रसिंह धाकड़ निवासी सीतानगर को 10 नवंबर को बुखार आया। परिजन ने 11 नवंबर को परी को जिला अस्पताल में पदस्थ डॉ. बीसी जैन को चेक कराया। आराम नहीं मिलने पर 12 नवंबर को परिजन परी को लेकर ग्वालियर गए और डॉ. अजय गौड़ को दिखाया। दवा खाने के बाद जब आराम नहीं मिला तो 13 नवंबर को जेएएच अस्पताल में भर्ती कराया गया।

इस दौरान ग्वालियर में परी की डेंगू की जांच का सैंपल लिया गया। 20 नवंबर को परी स्वास्थ्य होने पर उसकी छुट्टी कर घर आ गई। इधर ग्वालियर से जांच भिंड सीएमएचओ ऑफिस आई। इसमें परी की रिपोर्ट संदिग्ध थी। इसलिए शुक्रवार को टीम ने सीता नगर में निरीक्षण किया।

57 घरों को चेक किया, 3 में लार्वा मिला

शुक्रवार को स्वास्थ्य विभाग से उदयवीर वर्मा और राजवीर बघेल टीम के साथ परी के घर पहुंचे। यहां टीम ने परी के घर में पानी की टंकी सहित अन्य जगह टेमोफॉस के साथ अन्य दवा का छिड़काव किया। इसके बाद टीम ने मोहल्ले में 57 घरों में 137 पानी की टंकी और ड्रमों को चेक किया। टीम ने 19 पानी की टंकी खाली कराई। साथ ही दवा का छिड़काव किया।

यहां मिला डेंगू का लार्वा

सीतानगर में टीम को निरीक्षण के दौरान परमालसिंह राजावत के यहां पानी की टंकी में लार्वा मिला। साथ ही धर्मेन्द्रसिंह भदौरिया के यहां टंकी और ड्रम में डेंगू का लार्वा मिला है। टीम ने दवा का छिड़काव किया। साथ ही परिजन को समझाइस दी कि वह टंकी में पानी 3 दिन के अंतराल में बदलते रहें, जिससे लार्वा नहीं पनपे।

Posted By: Nai Dunia News Network