रविवार रात हुए हादसे में तीन लोगों और दो बैलों की हुई थी मौत, स्वजन को चार-चार लाख की राहत

भिंड। ऊमरी थाना क्षेत्र के अमन का पुरा और कोक सिंह का पुरा में रविवार रात 11केवी की लाइन से बैलगाड़ी सवार पति-पत्नी, बेटी और दो बैलों की मौत हो गई थी। इस हादसे पर ऊर्जा मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर ने नाराजगी जाहिर की है। मंत्री ने ट्वीट कर मृतकों के स्वजन को चार-चार लाख की सहायता राशि देने और लापरवाही के लिए जिम्मेदार अधिकारियों-कर्मचारियों पर कार्रवाई के निर्देश दिए थे। मंत्री के दखल से एसई दिनेश सुखीजा ने ऊमरी जेई एमआर सिद्दीकी, लाइनमैन को निलंबित कर दिया है। उधर कलेक्टर सतीश कुमार एस ने एसइ से स्पष्टीकरण मांगा है।

रविवार को यह हुआ था हादसा

रविवार रात नौ बजे 32 वर्षीय श्याम पुत्र परमाल सिंह निवासी सर्किट हाउस के पास भिंड, पत्नी 27 वर्षीय चिरैया सिंह, बेटी चार वर्षीय अक्षता, मां 86 वर्षीय केता बाई पत्नी परमाल सिंह, मामा का बेटा 40 वर्षीय कप्तान पुत्र मातादीन सिंह के साथ ग्राम बिलाव से बैलगाड़ी में सामान रखकर भिंड लौट रहे थे। अमन का पुरा और कोक सिंह का पुरा के बीच टूटे खंभे पर लटकी 11 केवी लाइन में बैलगाड़ी में रखा लोहे का पलंग छू गया था। इससे मौके पर ही श्याम सिंह, उनकी पत्नी चिरैया और बेटी अक्षता की करंट लगने से मौत हो गई। श्याम सिंह की मां केता बाई और मामा का बेटा कप्तान सिंह करंट से बुरी तरह से झुलस गए थे। साथ ही दोनों बैलों की भी मौत हो गई थी। हादसे पर ऊर्जा मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर ने नाराजगी जाहिर की। मंत्री की नाराजगी के बाद एसई ने जेई और लाइनमैन को निलंबित किया है।

जेई ने केस दर्ज करने दिया पत्र

जेई एमआर सिद्दीकी ने ऊमरी थाने में आवेदन दिया है। जेई ने अपने आवेदन में लिखा है कि पांच-छह दिन पूर्व 19 अक्टूबर 2021 को बारिश होने से सुल्तान सिंह का पुरा पंप लाइन के नहर पर 11 केवी का खंभा टेड़ा हो गया था और गिर गया था। इससे लाइन नीची हो गई थी। कर्मचारी माताचरण राजावत ने ग्रामीण धनसिंह राजावत, मेहताब सिंह राजावत के ट्यूबेल के पास लगे ट्रांसफार्मर से झंपर काट कर बिजली सप्लाई बंद कर दी थी थी। तीनों तारों को एक साथ बांध दिया गया था। इसके बावजूद अज्ञात लोगों ने बंधे हुए तारों को खोलकर उनमें करंट प्रवाहित कर लिया था। इससे हादसा हुआ। पुलिस ने मर्ग कायम कर पड़ताल शुरू की है।

जिले में कई स्थानों पर लटके हैं तार

कलेक्टर सतीश कुमार एस ने एसइ से स्पष्टीकरण मांगा है। कलेक्टर ने एसइ को लिखा है कि झूलते तारों की वजह से करंट से तीन लोगों की मौत हुई है। इससे जिले की छवि धूमिल हुयी है। झूलते तारों को पूर्व में व्यवस्थित कराया जाना था। इसे क्यों नहीं कराया गया इस संबंध में कलेक्टर ने रिपोर्ट मांगी है। साथ ही कलेक्टर ने लिखा है कि जिले के समस्त विकासखंड,तहसील, अनुभाग स्तर और भिंड शहर में कई स्थानों पर बिजली की लाइन काफी नीचे और झूलती हुई दिखाई देती है। इससे कभी भी हादसा हो सकता है। कलेक्टर ने लिखा है कि तत्काल निरीक्षण कर लाइनों को व्यवस्थित कराएं, जिससे हादसे से बचा जा सके।

वर्जनः

ऊमरी थाना क्षेत्र में करंट लगने से तीन लोगों की मौत के हादसे में जेई और लाइनमैन को निलंबित कर दिया गया है। लाइनों को दुरुस्त करने के लिए कहा गया है।

दिनेश सुखीजा, एसई, बिजली कंपनी भिंड

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local