भिंड। जहरीली शराब से चार लोगों की मौतों के बाद सख्त हुई पुलिस ने डिड़ी गांव में मैसर्स ग्वालियर डिस्टलरी के मालिक के भतीजे मनीष यादव को गिरफ्तार कर जेल भिजवाया है। पुलिस का कहना है मनीष ने एक कैन में ओपी (ओवरप्रूफ) सप्लाई की थी। इसी ओपी से शराब का निर्माण किया गया था, जिसे पीने के बाद मौतें हुईं। यहां बता दें, शुक्रवार को भिंड और मुरैना जिले की आबकारी अधिकारियों ने डिस्टलरी का निरीक्षण किया था। आबकारी महकमे ने निरीक्षण के बाद डिस्टलरी को क्लीनचिट दी है। ऐसे में डिस्टलरी मालिक के भतीजे की गिरफ्तारी के बाद अब पुलिस पूरे मामले की अपने स्तर से जांच करेगी।

11 जनवरी को ओपी दी, 13 को बनी शराब

जहरीली शराब से मौतों की जांच कर रही एसआइटी के सदस्य लहार एसडीओपी अवनीश बंसल ने बताया मनीष उर्फ मंगल पुत्र जसवंत यादव को गिरफ्तार किया गया है। आरोपित मनीष, डिड़ी गांव में मैसर्स ग्वालियर डिस्टलरी के मालिक श्रीगोविंद यादव का भतीजा है। पुलिस के मुताबिक आरोपित मनीष ने 11 जनवरी को भिंड शहर के बजरिया क्षेत्र में रहने वाले एक युवक को कैन में करीब 40 लीटर ओपी सप्लाई की थी। बजरिया में रहने वाले इस आरोपित ने महावीर गंज निवासी आरोपित गोलू सीरौठिया को यह ओपी सप्लाई की। इसी ओपी से 13 जनवरी को स्वतंत्र नगर के पीछे खेतों के पास बने वीरेंद्र जाटव के मकान में ओपी से एक हजार क्वाटर शराब का निर्माण किया गया था। इसी शराब के पीने से 15 जनवरी की सुबह इंदुर्खी गांव निवासी मनीष जाटव, छोटू जाटव पुत्रगण नरेंद्र जाटव की मौत हो गई थी। इसके अगले दो दिन में इंदुर्खी निवासी पप्पू जाटव, संतोष बाथम की मौत हुई।

डिस्टलरी में ओपी और देशी शराब का होता है निर्माण

देहात थाना क्षेत्र में डिड़ी गांव स्थित मैसर्स ग्वालियर डिस्टलरी में ओपी का निर्माण किया जाता है। साथ ही दतिया, श्योपुर और सीधी जिले में सप्लाई के लिए देशी शराब का निर्माण किया जाता है। डिस्टलरी संचालक श्रीगोविंद यादव के पास डिस्टलरी के माध्यम से देशभर में कहीं भी ओपी सप्लाई करने का लाइसेंस है। बताया गया है डिस्टलरी में एक दिन में करीब 40-45 हजार लीटर ओपी तैयार कर टैंकर के जरिए मांग के अनुरूप भेजी जाती है। शुक्रवार को यहां भिंड की जिला आबकारी अधिकारी बसंती भूरिया, मुरैना की आबकारी अधिकारी निधि जैन ने अपनी टीम के साथ निरीक्षण किया था। निरीक्षण में टीम ने डिस्टलरी का रिकार्ड जांचने के बाद क्लीन चिट दी थी, लेकिन डिस्टलरी में तैनात आबकारी अधिकारी एसएम खान को हटाकर जिला आबकारी कार्यालय में पदस्थ किया गया है।

जहरीली शराब का खरीदार एक आरोपित और पकड़ा

रौन थाना पुलिस ने जहरीली शराब का एक और खरीदार आरोपित नीरज पुत्र रणधीर तोमर निवासी चरथर को दबोचा है। पुलिस ने नीरज के पास से करीब 50 क्वाटर जहरीली शराब जब्त की है। रौन थाना टीआइ नरेंद्र सिंह कुशवाह ने बताया कि आरोपित नीरज तोमर ने करीब 90 क्वाटर लिए थे। इस शराब को उसने करब में छिपा दिया था। पकड़ने के डर से करीब 40 क्वाटर शराब आरोपित ने नष्ट कर दी। बाकी शराब नष्ट करने या सप्लाई किए जाने से पहले ही पुलिस ने नीरज को उसके गांव चरथर से दबोच लिया। पुलिस ने ओपी सप्लाई करने के आरोपित मनीष यादव के साथ नीरज को भी कोर्ट में पेश किया। कोर्ट ने दोनों आरोपितों को जेल भिजवा दिया है।

वर्जनः

आरोपित मनीष यादव को पकड़ा है। डिस्टलरी को आबकारी महकमे ने भले ही क्लीनचिट दे दी हो, लेकिन विवेचना में जरूरत पड़ने पर डिस्टलरी में पड़ताल की जाएगी।

अवनीश बंसल, एसडीओपी, लहार

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local