छीमका(नईदुनिया न्यूज)। अधूरी पड़ी गोशाला और पंचायत में अनुपस्थित मिलने पर कलेक्टर ने छीमका पंचायत के सचिव रसाल सिंह के खिलाफ कार्रवाई करने के निर्देश दिए हैं। बता दें कि शनिवार को कलेक्टर डॉ सतीश कुमार एस छीमका में गोशाला और स्कूलों का निरीक्षण करने पहुंचे थे।

बता दें कि छीमका में वर्ष 2019 में गोशाला का निर्माण कार्य शुरू कराया गया था, लेकिन निर्माण कार्य अब तक पूरा नहीं हो सका। इसको लेकर निरंतर शिकायतें की जा रही थीं। शनिवार को कलेक्टर और गोहद एसडीएम शुभम शर्मा छीमका में अधूरी पड़ी गोशाला का निरीक्षण करने पहुंचे। निरीक्षण के दौरान पंचायत सचिव अनुपस्थित रहे। कलेक्टर ने जब पंचायत सचिव के बारे में पूछा तो वह मौके पर मौजूद नहीं थे। इसको लेकर कलेक्टर ने पंचायत सचिव के खिलाफ नियमानुसार कार्रवाई करने के निर्देश दिए हैं। हालांकि निर्देश दिए जाने के बाद पंचायत सचिव आनन-फानन में मौके पर पहुंच गए थे। इसके बाद कलेक्टर ने छीमका में स्थित शासकीय स्कूल का निरीक्षण किया। इस दौरान छीमका सरपंच रामवीर बघेल, उपसरपंच रामानंद तिवारी, डा आलोक शर्मा बीएमओ गोहद, कल्लू तोमर, हरेंद्र तोमर, दीपू तोमर, तनू तोमर, हरपाल परमार, संदीप तोमर अन्य मौजूद रहे।

स्कूल की बाउंड्रीवाल बनाए जाने की मांगः

छीमका में स्थित शासकीय स्कूल के निरीक्षण के दौरान कलेक्टर को स्कूल में पदस्थ शिक्षकों ने समस्या बताते हुए कहा कि स्कूल के आसपास बाउंड्रीवाल न होने की वजह से यहां बेसहारा मवेशी बैठे रहे हैं। इस वजह से स्कूल परिसर में गंदगी रहती है। जानवरों से छात्र-छात्राओं को भी खतरा रहता है। साथ ही स्कूल परिसर में जलभराव की समस्या समस्या का निराकरण कराए जाने की बात भी कही। वहीं कलेक्टर ने इस समस्या का निराकरण कराए जाने का आश्वासन दिया है।

पंचायत में अधूरे पड़े विकास कार्यों को पूरा कराएं:

कलेक्टर ने सरपंच से कहा कि पंचायत में अधूरे पड़े निर्माण कार्यों को पूरा कराए जाने के लिए एस्टीमेट तैयार कराएं। जिससे गांव का तेजी से विकास हो सके। वहीं पंचायत के नवनियुक्त सरपंच ने कहा कि गांव में अधूरे पड़े विकास कार्यों को पूरा कराए जाने के साथ ही नए कार्य भी शुरू कराए जाएंगे।

गोशाला में अब तक पानी की व्यवस्था क्यों नहीं हुईः

निरीक्षण के दौरान कलेक्टर को स्थानीय लोगों ने बताया कि गोशाला में अब तक पानी की व्यवस्था नहीं की गई है। जबकि छह माह पहले ही इस कार्य के लिए राशि स्वीकृत की जा चुकी है। इस मामले की जांच कराए जाने और गोशला का निर्माण कार्य जल्द से जल्द पूरा कराए जाने के निर्देश दिए हैं। साथ ही गोशाला के आसपास पौधारोपण कराए जाने की बात भी कही।

Posted By:

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close