-गौरी सरोवर पर जलकुंभी और घाटों पर फैली गंदगी के चलते लोगों को हुई परेशानी

भिंड(नईदुनिया प्रतिनिधि) शहर के गौरी सरोवर सहित जिलेभर में स्थित तालाब और नदियों में शुक्रवार को भुजरियों का विसर्जन किया गया। शहर में आसपास के क्षेत्र से आए लोगों ने गौरी सरोवर में भुजरियों का विसर्जन किया। मेले में लगी दुकानों पर महिलाओं ने खरीदारी की। वहीं झूला सेक्टर में देर रात तक बच्चों की भीड़ बनी रही। इसके साथ ही विसर्जन के दौरान कोई अप्रिय घटना न हो इसके लिए जिला प्रशासन के साथ ही पुलिस महकमा मेला में शांति और सुरक्षा व्यवस्था को लेकर सक्रिय दिखा।

रक्षाबंधन के दूसरे दिन नदी, सरोवर में भुजरियों का विसर्जन किया जाता है। जिले में इस मौके पर तालाब और नदियों पर महिला और पुरुषों की भीड़ लग जाती है। शहर के गौरी सरोवर में भी शुक्रवार की दोपहर से ही भीड़ बढ़ने लगी। सरोवर किनारे किसी प्रकार की कोई दुर्घटना हो इसके लिए यहां पर गोताखोर तैनात रहे। हालांकि अंचल में कुछ जगहों पर रक्षाबंधन की शाम को भी भुजरियां मेले का आयोजन किया गया था। गौरी सरोवर पर लगे मेले में विसर्जन के लिए महिलाएं एवं बच्चियां मटकों में भुजरियां लेकर सरोवर पर पहुंची तथा उन्हें पानी से धोकर थैले और रूमाल में रखा तथा मेले में घूमकर उसका लुत्फ उठाया। मेले में भीड़ को देखते हुए पुलिस प्रशासन द्वारा सुरक्षा प्रबंध किए वहीं ट्रैफिक व्यवस्था सुचारू बनी रही, इसके लिए भी पूरी व्यवस्था की गई थी। सरोवर के आसपास के क्षेत्र में मेले का आयोजन किया गया। सड़क के दोनों ओर लगी अस्थायी दुकानों पर लोगों ने जमकर खरीदारी की। खानपान के स्टालों पर भी भीड़ उमड़ती रही। महिलाओं और बच्चों ने झूलों का आनंद लिया। देर रात तक मेले में भीड़ उमड़ती रही।

मांग के बावजूद भी सरोवर की नहीं कराई साफ-सफाईः

बता दें की गौरी सरोवर का एक हिस्सा जलकुंभी से पटा हुआ है। इसके साथ ही घाटों पर कीचड़ व गंदगी है। सरोवर पर लगने वाले मेले को लेकर एक माह से समाजसेवियों के द्वारा सरोवर की साफ-सफाई कराए जाने को लेकर जनप्रतिनिधियों से लेकर नगर पालिका के अधिकारियों से गुहार लगाई जा रही थी। लेकिन इसके बावजूद भी जिम्मेदरों ने इस ओर ध्यान नहीं दिया। नतीजा भुजरियां विसर्जन करने पहुंचे लोगों को इस वजह से परेशान होना पड़ा।

झूला सेक्टर में रही भीड़भाड़ः

शहर के गौरी सरोवर पर लगे भुजरियां मेले के झूला सेक्टर और चाट-पकौड़ी की दुकानों पर देर शाम तक भीड़भाड़ रही। इसके साथ ही युवक व युवतियों ने भुजरियां विसर्जन करने के साथ सेल्फी लेते हुए नजर आए।

अंचल में तालाबों पर लगा मेलाः

जिले के अंचल में तालाबों पर भुजरियां मेलों का आयोजन किया गया। दबोह में करधेन तालाब पर, मिहोना में भुजरियाऊ तालाब सहित आलमपुर देवरीकलां, खूजा, लहार, ऊमरी, अटेर, कदौरा, फूफ, मेहगांव, गोरमी, अमायन, मौ, मालनपुर में तालाबों पर भुजरियां मेलों का आयोजन किया गया।

बेसलीडेम पर लगा मेलाः

गोहद के बेसली डेम पर शुक्रवार को भुजरियां मेले का आयोजन किया गया। मेले के दौरान लोगों में काफी उत्साह नजर आया। बता दे कि पिछले वर्ष बेसलीडेम ओवरफ्लो होने की वजह से प्रशासन ने भुजरियां मेले के आयोजन पर रोक लगाई थी।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close