भिंड(नईदुनिया प्रतिनिधि)। जिले में मिलावटी दूध-मावा का कारोबार थमने का नाम नहीं ले रहा है। यह खुलासा मंगलवार को खाद्य सुरक्षा टीम द्वारा ऊमरी के लहरौली गांव में एक डेयरी पर कार्रवाई के दौरान हुआ है। यहां टीम को बड़ी मात्रा में नकली दूध के साथ-साथ मिलावटी दूध बनाने की सामग्री मिली है। पुलिस ने डेयरी संचालक के खिलाफ ऊमरी थाने में धोखाधड़ी सहित अन्य धाराओं में मामला दर्ज किया है।

यह है पूरी घटनाः

खाद्य सुरक्षा अधिकारी रीना बंसल ने बताया कि सूचना मिली कि ग्राम लहरौली पोस्ट सगरा थाना ऊमरी में एक डेयरी संचालित है। यहां बड़ी मात्रा में मिलावटी दूध तैयार कर बाहर भेजा रहा है। श्रीमती बंसल टीम के साथ लहरौली गांव में उमेश डेयरी पर पहुंची। टीम ने संचालक उमेश सिंह पुत्र रामहेत सिंह राजावत निवासी लहरौली से डेयरी का लाइसेंस या रजिस्ट्रेशन मांगा तो उन्होंने बताया, लेकिन लाइसेंस 14 नवंबर 2021 का ही समाप्त हो चुका था। डेयरी पर दूध बनाने का घोल तैयार किया जा रहा था। जबकि एक टैंकर में 300 से 400 लीटर मिश्रित दूध भरा हुआ था। साथ ही बिलक्रीम रिफाइंड पाम कर्नल आयल से भरे तीन पैक्ड व 2 खुले हुए टिन रखे हुए थे। जिसमें कुल आयल की मात्रा 64 किलो थी। जबकि निरीक्षण के दौरान डेयरी में माल्टोडेक्सिन पाउडर ड्राइज, ग्लूकोज सायरप के 2 खुले बैग रखे थे। सिजमें 11 किलो सामग्री थी। मौक्े पर 1 किलो लिक्विड डिटर्जेंट रखा हुआ था। करीब 2 लीटर दूध बनाने का घोल रखा हुआ था। डेयरी संचालक उक्त सामग्री रखे होने का कोई जबाव नहीं दे पाया। टीम ने यहां से मिक्स दूध, बिलक्रीम रिफाइंड पाम कर्नल आयल, माल्टोडेक्सिन पाउडर ड्राइज, ग्लूकोज, लिक्विड डिटर्जेंट आदि का सैंपल लिया गया। खाद्य सुरक्षा अधिकारी बसंल ने बताया कि जांच के बाद वह ऊमरी थाने में आई और डेयरी संचालक के खिलाफ मामला दर्ज किया है। इसमें बताया कि डेयरी संचालक उमेश सिंह राजावत डेयरी पर मिलावटी दूध तैयार कर लोगों के स्वास्थ्य के साथ खिलवाड़ कर रहा था। पुलिस ने डेयरी संचालक के खिलाफ धोखाधड़ी सहित अन्य धाराओं के तहत मामला दर्ज कर लिया है।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close