Bhind child line News: भिंड(नईदुनिया प्रतिनिधि) । बच्चे हमारे देश का भविष्य हैं। आगे बढ़ने का अवसर देकर बच्चों को हर क्षेत्र में आने वाली कठिनाइयों से निपटने के लिए तैयार किया जा सकता है, जिससे वह देश के विकास में अपना अमूल्य योगदान दे सकें। यह बात चाइल्ड लाइन टीम के सदस्य उपेंद्र व्यास ने कही। वह डिडी के खुर्द गांव में चाइल्ड लाइन के संचालक शिवभान सिंह राठौर के मार्ग दर्शन में चल रहे कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे।

उपेंद्र व्यास ने कहा कि बच्चे देश का भविष्य हैं। यदि बच्चे अपने अधिकारों से वंचित रहेंगे तो हमारा देश एवं राष्ट्र मजबूत नहीं होगा। इसके साथ ही उन्होंने बच्चों से कहा कि आप लोगों को कभी घर से नाराज होकर नहीं जाना चाहिए, किसी अपरिचित द्वारा दी हुई चीज नहीं खाना चाहिए, बच्चों से मजदूरी नहीं कराई जा सकती है। इसके साथ ही बच्चों को गुड टच और बेड टच के बारे में बताया गया। टीम के सदस्य अजब सिंह द्वारा बच्चों को चाइल्डलाइन 1098 निःशुल्क सेवा से अवगत कराया और बच्चों को कहानी के माध्यम से बताया कि यह सेवा सबसे पहले मुंबई में शुरू हुई और आज पूरे देश में संचालित है। निराश्रित बच्चों के लिए जिले में 06 से 14 वर्ष के लिए बालगृह और 0 से 06 वर्ष के लिये शिशुगृह संचालित हैं। बच्चों की चाइल्डलाइन 1098 पर काल करवाकर बच्चों की झिझक दूर की गई। वहीं अनमोल चतुर्वेदी द्वारा बताया गया कि चाइल्डलाइन गुमशुदा बच्चों की किस तरह से मदद करती है। बच्चे अपने माता-पिता से बिछड़ गए हों वह बच्चे या संबंधित वयस्क कोई भी 1098 पर काल करके मदद की मांग कर सकता है। चाइल्डलाइन टीम बच्चों को मदद को हाजिर होगी। टीम सदस्य नीलकमल द्वारा बताया गया कि बच्चों को बाल श्रमिक में लिप्त बच्चों को मुक्त करवाने के लिए एवं मेडिकल सुविधा दिलाने, शिक्षा से वंचित बच्चों, बाल व्यापार की स्थिति में, घर से भागे हुए बच्चें, बाल विवाह की परिस्थिति में कोई भी व्यक्ति चाइल्डलाइन 1098 पर काल करके सूचित कर सकता है। इस अवसर पर नीलकमल सिंह, आकाश, धीरेन्द्र श्रीवास्तव, आंगनबाड़ी कार्यकर्ता प्रियंका यादव, सहायका सत्यवती कुशवाह सहित अन्य मौजूद रहे।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local