Bhind News: भिंड (नप्र)। मेहगांव के गिजौर्रा लिलोई गांव निवासी 29 वर्षीय युवक की शादी करवाने के लिए पिता ने तीन लाख रुपए दुल्हन पक्ष को दिए। दुल्हन तीन माह तक दूल्हा के साथ रही और जेवरात समेटकर फरार हो गई। दूल्हे ने पड़ताल की तो पाया कि शादी के नाम से उसके साथ ठगी की गई है। पुलिस ने दुल्हन, शादी करवाने वाले दंपति और अन्य लोगों पर केस दर्ज कर लिया है। दुल्हन सागर की रहने वाली बताई जा रही है।

मेहगांव के लिलोई गांव निवासी सियाराम के पास गिजौर्रा गांव निवासी उमा देवी ने पति अरविंद तिवारी के साथ संपर्क किया। दोनों ने कहा आपका 29 वर्षीय बेटे शिवकुमार की शादी नहीं हो रही है। बड़े बेटे ने संन्यास ले लिया है।उमा ने सियाराम से कहा मेरी बहन की बेटी से शादी करवा दूंगीं, लेकिन वे लोग गरीब हैं। शादी का खर्च उठाने के लिए तीन लाख रुपए देने पड़ेंगे। बेटे की शादी करवाने के लिए पिता राजी हो गए।

लिलोई में बात करने के बाद उमा और अरविंद ने सागर की रहने वाली मालती देवी से बात की। दोनों मालती की बेटी पूनम को अपने साथ गिजौर्रा गांव ले आए। भिंड में पूनम का फर्जी आधार कार्ड तैयार करवाया गया। उमा ने शिवकुमार के घर वालों को पनूम से मिलवाया। पूनम को अपनी बहन की बेटी बताया। इसके बाद शिवकुमार की चार अप्रैल को पूनम के साथ गिजौर्रा गांव में ही उमा और अरविंद ने अपने घर शादी करवाई। करीब तीन माह तक पूनम लिलोई गांव में ससुराल रही। इस दौरान करीब तीन बार वह गिजौर्रा गांव में उमा के घर गई।

मां की बीमारी का बहाना कर लिए पांच हजार

पुलिस के मुताबिक तीन माह बाद उमा ने शिवकुमार से कहा पूनम की मां दिल्ली में भर्ती हैं। पूनम को पांच हजार दे दो। शिवकुमार ने उनसे साथ दिल्ली चलने के लिए कहा तो उमा ने बहाना बनाकर कह दिया कि तुम बाद में चलना। पांच हजार मिलने के बाद उमा ने तीन जुलाई को पूनम को भिंड मे रिश्तेदार के घर भेजा। वहीं से पूनम अपने घर सागर पहंुच गई। इस दौरान पूनम जेवरात भी ले गई है। शिवकुमार ने पड़ताल की तो पाया कि उसके साथ धोखा हुआ है। उसने मेहगांव थाने में रिपोर्ट की। पुलिस ने पूनम, उमा, अरविंद और एक अन्य पर केस दर्ज कर लिया है। थान प्रभारी डीबीएस तोमर ने बतयाा कि शिकायत मिलने पर केस दर्ज कर लिया है। अब पड़ताल की जा रही है।

Posted By: Hemant Kumar Upadhyay

NaiDunia Local
NaiDunia Local