Bhind News: अब्बास अहमद, भिंड। नईदुनिया गुजरात के बड़ोदरा की उत्कर्ष प्राइवेट लिमिटेड ने प्रदेश के भिंड, ग्वालियर, दतिया, सागर, मंडला और उत्तरप्रदेश के राय बरेली के पांच लाख से ज्यादा लोगों के आधार कार्ड, अंगूठे के निशान आदि डाटा निजी उपयोग के लिए जुटाया है। इसके जरिए इजी-पे पर वालेट अकाउंट खोले गए हैं। लोगों के बैंक अकाउंट से रकम पार हो रही है। भिंड में 75 लोगों के खाते से 18 लाख रुपये की रकम अब तक पार हो चुकी है। एसपी मनोज कुमार सिंह का कहना है कि जो लोग इस कंपनी को अपना डाटा दे चुके हैं, उनके बैंक अकाउंट सुरक्षित नहीं हैं।

ऐसे किया गया पूरा फर्जीवाड़ा

डीएसपी मुख्यालय मोतीलाल कुशवाहा ने बताया गुजरात के बड़ोदरा की उत्कर्ष प्राइवेट लिमिटेड कंपनी ने भिंड के चार युवकों को कमीशन पर सेल्समैन की नौकरी पर रखा। इन्हें एलईडी बल्ब दिए, जो ग्रामीणों को आठ रुपये में बेचने थे। बल्ब के ऐवज में ग्रामीणों से आठ रुपयों के साथ उनका आधार नंबर, अंगूठे का निशान और अन्य जानकारी मांगी गई थी।

सेल्समैन को प्रत्येक आधार नंबर और अंगूठे का निशान एकत्रित करने पर पांच रुपये कमीशन मिलता था। भिंड के लहार, रौन और अकोड़ा में मई 2020 से सितंबर 2020 के बीच करीब एक लाख लोगों का डाटा ले लिया गया। डीएसपी का कहना है कि एक सेल्समैन ने एक दिन में पांच सौ और इससे ज्यादा लोगों का डाटा लिया। डीएसपी के मुताबिक गुजरात की उत्कर्ष कंपनी ने ग्वालियर के ग्रामीण इलाकों सहित दतिया, सागर, मंडला और उत्तरप्रदेश के रायबरेली में भी लाखों लोगों का डाटा एकत्रित कराया है। इस डाटा का अब कंपनी निजी उपयोग कर रही है।

गुजरात से दिल्ली बेचा डाटा

डीएसपी कुशवाहा के मुताबिक गुजरात के बड़ोदरा शहर की उत्कर्ष प्राइवेट लिमिटेड कंपनी ने दिल्ली के गिरोह को यह डाटा बेचा है। इसके जरिए गिरोह ने इजी-पे वालेट पर फर्जी अकाउंट खोले। अकाउंट में लोेगों के आधार नंबर, उनके अंगूठे का निशान उपयोग किया। गिरोह ने इसमें मोबाइल नंबर खुद का डाला है। लोगों के अंगूठे के निशान को सिलिकान की परत पर छापा गया। समय-समय पर गिरोह ने सिलिकान पर लिए गए अंगूठे के निशान का उपयोग कर लोगों के अकाउंट से रकम उड़ाई और उसे वालेट में ले आए। वालेट से रकम को कानपुर के एक्सिस बैंक व आइसीआइसीआइ बैंक में खोले गए अकाउंट में ट्रांसफर किया।

इनका कहना है

गुजरात की कंपनी ने भिंड सहित आसपास के जिलों के लोगों का निजी डाटा इकट्ठा करवाया है। इसे बेचा गया है। कई खातों से रकम पार हुई है। मामले में चार एफआइआर की गई हैं। गुजरात और दिल्ली में गिरोह चि-त किया गया है। हमारी टीम लगातार इस पर काम कर रही है।

मनोज कुमार सिंह, एसपी, भिंड।

Posted By: Hemant Kumar Upadhyay

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस