MP News: भिंड शहर के गोविंद नगर में सर्दी दूर करने के लिए लगाए रूम हीटर में शार्ट सर्किट से कमरे में आग लग गई। जिससे कमरे में लेटे बुजुर्ग की जलने और दम घुटने से मौत हो गई। कमरे में लगी एलईडी टीवी सहित अन्य सामान पूरी तरह से जलकर खाक हो गया। घटना सोमवार-मंगलवार रात करीब डेढ़ बजे की है।जानकारी के अनुसार 85 वर्षीय रामलक्षन शिवहरे पुत्र मोहरसिंह शिवहरे निवासी गोविंद नगर सोमवार रात घर में सो रहे थे। जबकि छोटा बेटा चंद्रप्रकाश व बड़ा बेटा मनोज शिवहरे दूसरे कमरे में सो रहे थे।

रात में बुजुर्ग को सर्दी नहीं लगे इसलिए कमरे में रूम हीटर चालू कर दिया। रात करीब डेढ़ बजे छोटे बेटे बाथरूम के लिए खड़े हुए तब उन्होंने पिता के कमरे से धुआं उठते हुए देखा कमरे का गेट खोलकर देखा तो अंदर धुआं ही धुआं था। उन्होंने दूसरी मंजिल पर से रहे बड़े भाई मनोज को आवाज दी। इसी के साथ सभी स्वजन जागकर आ गए।

स्वजन अंदर गए तो देखा कमरे में लगी एलईडी टीवी, वाशिंग मशीन, पिताजी के बिस्तर सहित पूरे कमरा आग से सुलग रहा था। स्वजनों ने पानी डालकर आग पर काबू पाया और पिता को कमरे से बाहर निकाला और पुलिस को सूचना दी। रात करीब तीन बजे स्वजन पिता को लेकर जिला अस्पताल लेकर आए। यहां डाक्टर ने जांच के बाद उन्हें मृत घोषित कर दिया।

आग बुझाने के दौरान बेटे की भी हालत खराब -

बताया जाता है कि आग बुझाने और पिता को कमरे से बाहर निकालने के दौरान छोटे बेटे चंद्रप्रकाश की भी दम घुटने से हालत खराब हो गई। स्वजनों ने रात में ही उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया। मंगलवार सुबह हालत सुधरने पर श्री शिवहरे ने बताया कि कमरे में शार्ट सर्किट संभवतः रूम हीटर के कारण हुआ है, क्योंकि कमरा पूरी तरह से पैक था। शिवहरे के मुताबिक वह पोस्ट आफिस के एजेंट हैं। आग से उनके ग्राहकों की किताब, दस्तावेज, कुछ रुपये के अलावा बच्चों की किताबें भी जल गई हैं।

नईदुनिया अलर्ट - रूम हीटर चलाने के दौरान इन बातों का रखें ध्यान -

- कमरे को पूरी तरह से बंद न करें।

- उसमें कोई खिड़की या रोशनदान हो तो उसे हल्का सा खोले रखें और अगर न हो तो हल्का सा दरवाजा ही खोल दें।

- सोने से पहले ही हीटर चलाकर कमरा गर्म कर लें और सोते समय इसे बंद कर दें।

- इलेक्ट्रिक हीटर, गैस हीटर, हाट ब्लाअर या कोयले की अंगीठी के स्थान पर आयल हीटर का इस्तेमाल करना ज्यादा बेहतर है।

आयल हीटर हैं सर्वाधिक अच्छा -

एमजेएस कालेज के प्रोफेसर डा. आरए शर्मा के मुताबिक कमरा गर्म करना हो और स्वास्थ्य को भी हानि न पहुंचे तो आयल हीटर का चुनाव सबसे अच्छा रहता है। इसकी वजह यह है कि ये औरों की तुलना में वातावरण से कम आक्सीजन लेते हैं। और इसी वजह से इस हीटर से कार्बन मोनोआक्साइड का संचार भी कम होता है। हीटर के इस्तेमाल में बस यही गैस सबसे घातक होती है। जब इसी से छुटकारा मिल जाएगा तो हीटर के इस्तेमाल में कोई दिक्कत नहीं होगी।

शहर के गोविंद नगर में एक बुजुर्ग की जलने से मौत हो गई है। स्वजनों का कहना है, कि आग रूम हीटर में शार्ट सर्किट के कारण लगी है। सूचना मिलते ही हम भी मौके पर गए थे। मर्ग कायम कर जांच शुरू कर दी है।

रविंद्र शर्मा, टीआइ सिटी कोतवाली

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close