फूफ / भिंड नईदुनिया न्यूज। ग्वालियर-इटावा नेशनल हाइवे 92 पर इटावा जिले के उदी पर परिवहन, राजस्व और माइनिंग विभाग ने संयुक्त चेकिंग लगा दी। भिंड से जाने वाले वाहनों के जानकारी लगी तो ड्राइवरों ने चंबल नदी किनारे वाहन खड़े कर दिए। देखते ही देखते रात 3 बजे से जाम की स्थिति बनने लगी। सुबह 6 बजे टीआई संजय सिंह को जाम की जानकारी मिली तो वह फोर्स के साथ फूफ से चंबल नदी पुल तक गए और सड़क पर खड़े वाहनों को एक साइड कराकर एक लाइन को चालू करवाया। सुबह करीब 9 बजे तक जाम खुल गया। इस दौरान लोग करीब 6 घंटे तक जाम में फंसे रहे। मालूम हो, गुरुवार रात 11 बजे आरटीओ ने यमुना नदी पर चेकिंग लगा दी। इसके बाद रात 1 बजे चंबल नदी के दूसरी ओर उदी के पास चेकिंग लगा दी। इससे ग्वालियर-भिंड से जाने वाले रेत-गिट्टी के वाहनों के पहिया थम गए। यहां आरटीओ के अलावा उप्र खनिज विभाग और राजस्व अमला के साथ बड़ी मात्रा में पुलिस फोर्स मौजूद था।

सुबह में पहुंचा पुलिसबल

चंबल नदी पुल पर जाम की सूचना वाहन ड्राइवरों ने डायल 100 को दी। सबसे पहले डायल 100 मौके पर पहुंची। पुलिस ने चंबल नदी पर पता किया तो चेकिंग के कारण अधिकांश ट्रक ड्राइवरों ने अपने वाहन मप्र की सीमा में खड़े कर लिए हैं। जिससे जाम की स्थिति बन रही है। टीआई संजयसिंह सुबह 5 अपनी टीम के साथ पहुंच गए। पुलिस ने जाम खुलवाने के लिए वाहनों को एक साइड से खड़े करवाया। मगर सड़क पर वाहन आड़े-तिरछे खड़े होने के कारण रास्ता बहाल करने में अधिक समय लगा। जिससे सबसे अधिक परेशानी महिलाओं और बच्चों को हुई।

6 घंटे जाम में फसे रहे लोग

भिंड से इटावा के लिए जाने वाले वाहनों को 6 घंटे जाम के हालातों का सामना करना पड़ा। इस बीच छोटे दुपहिया वाहन से लेकर सवारी वाहनों में सवार लोगों को भारी परेशानियों का सामना करना पड़ा। उदी मोड़ चेकिंग की सूचना मिलने पर ज्यादातर वाहन चालकों ने अपने वाहन हाइवे पर ही खड़े कर लिया। जिससे चंबल नदी से बरही टोल तक लंबा जाम लगा रहा। जाम में फसे कुछ वाहनों ने रास्ता बदलकर दूसरे मार्गो से होकर अपना सफर किया। जबकि जाम के बीच में फसी बस और जीप में सवार लोग घंटों परेशान होते रहे।

जाम खोलने में इसलिए आई परेशानी

सुबह 5 बजे से हाइवे पर जाम लगने की सूचना मिलने के बाद फूफ पुलिस के साथ वाहन चालकों ने रास्ता खुलवाने के लिए प्रयास किए। लेकिन परेशानी इसलिए पैदा हुई, क्योंकि ज्यादातर वाहन चालक बीच सड़क पर अपने वाहन खड़े करके सोने के लिए चले गए। पुलिस ने एक साइड से वाहनों को निकालने के लिए मशक्कत की, मगर रोड पर खड़े बिना ड्राइवर के वाहनों को सुबह तक निकाला गया। हाइवे पर जाम में फसे वाहनों को पहले एक साइड से निकालने का प्रयास किया। सुबह करीब 8.30 बजे के बाद धीरे-धीरे करके एक साइड से वाहनों का आवागमन शुरू कराया गया। करीब 3 की मशक्कत के बाद हाइवे पर यातायात बहाल हो सका।

महिलाएं, बच्चे हुए परेशान

चंबल पुल के पास रात में आरटीओ की टीम ने चेकिंग लगा दी। जबकि यमुना नदी के पुल पर माइनिंग ने चेकिंग लगा दी। इससे मप्र से उप्र की सीमा में जाने वाले वाहन बरही के पास लग गए। इस दौरान चंबल पुल से लेकर फूफ तक करीब वाहनों की लाइन लग गई। पुलिस ने वाहनों को भदाकुर रोड होते हुए छुंछरी से उप्र के लिए निकलवाना शुरू कर दिया। इधर भारी वाहनों के साथ सवारी बसें भी फसी रहीं। बसों में बैठी महिलाएं और बच्चों को भारी तकलीफों का सामना करना पड़ा। करीब 6 घंटे तक रहे जाम में दुपहिया वाहनों को भी निकलने के लिए रास्ता नहीं मिला। कुछ वाहन चालकों ने अपने वाहन दूसरे मार्गो से होकर निकाले। जबकि ज्यादातर लोग रातभर सवारी वाहनों में फसे रहे। इस दौरान इटावा व अन्य स्थानों पर जल्दी पहुंचने वाले लोगों को परेशानियों भरा सफर तय करना पड़ा।

रात में पैदल आए यात्री

रात में हाइवे पर जाम लगने के बाद रात करीब 1 बजे दिल्ली से भिंड आने वाली बस में जाम में बस गई। बस में फूफ सहित आसपास की सवारी तो पैदल ही फूफ तक आ गई। जबकि लंबी दूरी वाली यात्री बस में ही बैठे रहे। इस दौरान उन्हें काफी परेशानी हुई।

दिल्ली से बस में बैठकर फूफ आ रहे थे। जाम लगने के कारण चंबल पुल के पास रात एक बजे से बस में फसे रहे। हम रात में ही पैदल फूफ आ गए। नीरू शर्मा, यात्री

जसवंत नगर से ग्वालियर जा रहे थे। लेकिन हाइवे पर जाम लगने के कारण बस बरही पर जाम में फसी रही। बाद में जब जाम नहीं खुला तो पैदल फूफ तक आना पड़ा। - योगेश कुमार, यात्री

उप्र के उदी में चेकिंग के कारण ड्राइवरों से अपने वाहन सड़क किनारे खड़े कर लिए थे। लेकिन कुछ वाहन गलत तरीके से खड़े थे। इसलिए जाम की स्थिति बन गई थी। हमने पहुंचकर ट्रैफिक को पूरी तरह से बहाल करवाया। संजयसिंह, टीआई फूफ

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

जीतेगा भारत हारेगा कोरोना
जीतेगा भारत हारेगा कोरोना