होटल में ग्राहक बनकर पहुंची पुलिस, मुंबई-दिल्ली और ग्वालियर से बुलाई जाती थी कालगर्ल

भिंड। शहर के बीचों-बीच राज टाकीज गली में होटल कृष्णा में देह व्यापार का अड्डा चल रहा था। शुक्रवार को पुलिस यहां ग्राहक बनकर पहुंची। होटल से दो काल गर्ल सहित 12 युवक-युवतियों को पकड़ा गया है। ग्राहकों के लिए यहां मुंबई, दिल्ली और ग्वालियर से कालगर्ल बुलाईं जाती थीं। होटल में भिंड का एक पटवारी भी काल गर्ल के साथ कमरे में मिला। कार्रवाई के लिए पहुंची डीएसपी पूनम थापा ने होटल को सील करवा दिया है। होटल मालिक, होटल मैनेजर, कालगर्ल के साथ मिले पटवारी, और दो कालगर्ल सहित छह लोगों पर देह व्यापार में लिप्त होने की एफआइआर दर्ज की गई है। तीन युवतियों, चार युवकों को सरकारी गवाह बनाकर छोड़ दिया गया है।

डीएसपी की दो माह से थी होटल पर नजरः

कृष्णा होटल में कार्रवाई के दौरान महिला अपराध डीएसपी पूनम थापा ने बताया उन्हें दो माह से शिकायत मिल रही थी कि यहां देह व्यापार का अड्डा संचालित किया जा रहा है। ऐसे में पिछले दो माह से होटल पर नजर थी। शुक्रवार को पिन प्वाइंट सूचना मिली कि होटल में काफी ग्राहक हैं। ऐसे में यहां आरक्षक को सादा कपड़ों में ग्राहक बनाकर भेजा गया। आरक्षक रिसेप्शन पर मिले मैनेजर रवींद्र सोनी से कालगर्ल और होटल के किराए की जानकारी लेता रहा। इसी दौरान डीएसपी थापा, एसआइ रत्ना जैन और पुलिस बल दौड़ता हुआ होटल की तीसरी मंजिल पर कमरों के बाहर पहुंच गया। मैनेजर को संभलने का मौका नहीं मिला। पुलिस ने मैनेजर को गिरफ्त में लेकर कमरे खुलवाए तो उनमें युवक-युवती आपत्तिजनक हालत में मिले। कमरों में आपत्तिजनक सामान और शराब की खाली बोतलें मिलीं। सभी को अलग-अलग कमरों से निकालकर एक कमरे में बैठाया गया। कोतवाली से बल बुलाने के बाद पहले युवतियों को थाने भिजवाया गया। इसके बाद युवकों को थाने भिजवाया गया। पुलिस कार्रवाई के दौरान पकड़े गए युवक-युवती अपने चेहरे छिपाए रहे।

पुलिस को गुमराह करता रहा होटल में मिला पटवारीः

डीएसपी पूनम थापा के साथ पहुंचे बल ने कृष्णा होटल के कमरे से पटवारी मेवाराम शर्मा निवासी रंजना नगर को पकड़ा है। पटवारी कालगर्ल के साथ कमरे में मिला था। पकड़ में आने के बाद पटवारी ने सफेद साफी से अपना मुंह ढंक लिया। पूछने पर पहले उसने पुलिस को अपना नाम रामनरेश शर्मा पटवारी हल्का रौन बताया। पड़ताल की गई तो रौन में इस नाम का कोई पटवारी नहीं पाया गया। दोपहर से देर शाम तक काफी पूछताछ के बाद पटवारी ने पुलिस को अपना सही नाम बताया है। पुलिस ने देह व्यापार के आरोप में होटल कृष्णा के मालिक घनश्याम शर्मा पुत्र कृपाशंकर शर्मा निवासी धनवंतरी काम्प्लेक्स भिंड, मैनेजर रवींद्र सोनी पुत्र जगत नारायण सोनी निवासी गोल मार्केट भिंड, ग्राहक संदीप सिंह ओझा पुत्र रामलखन निवासी बरोही ग्राम पिड़ौरा, पटवारी मेवाराम शर्मा निवासी रंजना नगर भिंड, काल गर्ल नारायणी जाटव निवासी भुजपुरा, सपना नागर निवासी बीएसएनएल भवन के पास भिंड पर एफआइआर दर्ज की है।

भारी पुलिस बल देखकर बाहर से भागा होटल मालिक

पुलिस कार्रवाई के दौरान बताया गया है कि होटल कृष्णा में देह व्यापार का अड्डा शहर के बड़े नेता के संरक्षण में चलाया जा रहा था। शुक्रवार को डीएसपी पूनम थापा भारी पुलिस बल के साथ कार्रवाई कर रही थीं तब होटल मालिक घनश्याम शर्मा बाहर तक आया। उसने होटल के बाहर भीड़ और पुलिस की गाड़ियां देखकर भांप लिया था कि आज नेताजी की चलने वाली नहीं है। ऐसे में वह वहां से भाग निकला। पुलिस ने होटल सील करने के बाद घनश्याम को बुलवाया, लेकिन वह थाने नहीं पहुंचा। ऐसे में होटल मालिक के स्वजन को पूछताछ के लिए थाने में बुलाया गया है।

एक हजार रुपए प्रति घंटे था होटल का किरायाः

डीएसपी पूनम थापा ने बताया कि होटल कृष्णा में देह व्यापार का अड्डा संचालित था। होटल में ग्राहक को एक कमरा एक हजार रुपये प्रतिघंटे के हिसाब से दिया जाता था। पकड़ में आए युवकों ने भी यही बताया। होटल कृष्णा में एक रात ठहरने का किराया छह हजार रुपये बताया गया। पुलिस ने होटल से ग्राहकों के नाम का रजिस्टर भी जब्त किया है। कार्रवाई के बाद डीएसपी थापा बाहर निकलीं तो दुकानदारों ने कहा कि सुबह से ही देर रात तक देह व्यापार होता था। इससे उनकी दुकानों पर ग्राहक नहीं आते थे। इस कार्रवाई से राहत मिली है।

थाने से भागा आर्मीमैन, जवानों ने पकड़ा, सरकारी गवाह बनाकर छोड़ाः

पुलिस कार्रवाई के दौरान होटल कृष्णा से एक आर्मीमैन को भी पकड़ा गया था। आर्मीमैन शुक्रवार को ड्यूटी पर वापस जा रहा था। वह रिश्तेदार महिला के साथ होटल के कमरे में आपत्तिजनक हालत में मिला था। आर्मीमैन को होटल से थाने भिजवाया गया। थाने से आर्मीमैन ने दौड़ लगा दी। पुलिस जवानों ने करीब 500 मीटर दौड़कर अटेर रोड बंबा के पास से उसे दोबारा पकड़ा। हालांकि बाद में उसे छोड़ दिया गया। बताया गया कि उसे सरकारी गवाह बनाया गया है। आर्मीमैन जिस महिला के साथ मिला वह स्वेच्छा से आई थी। इससे उसे सरकारी गवाह बनाया गया है।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

NaiDunia Local
NaiDunia Local
 
Show More Tags