Bhind Short Encounter News: अब्बास अहमद, भिंड नईदुनिया। मालनपुर औद्योगिक क्षेत्र में शुक्रवार देर रात पुलिस और कुख्यात शराब तस्करों की मुठभेड हुई। मुठभेड़ में बदमाशों की गोली सायबर सेल प्रभारी एसआइ शिवप्रताप सिंह के दाहिने हाथ से छूकर निकली। एसआइ घायल हुए हैं। 30 हजार का इनामी शैतान सिंह भदौरिया पैर में गोली लगने से घायल है। पुलिस ने मौके से बदमाश का एक साथी भी पकड़ा है। इनके पास से 12 बोर की अधिया और 32 बोर की पिस्टल बरामद की हैं।

गोहद एसडीओपी नरेंद्र सोलंकी के मुताबिक पुलिस को सूचना मिली थी कि कुख्यात शराब तस्कर शैतान सिंह उर्फ अंकित पुत्र राजवीर सिंह भदौरिया ग्राम परौसा थाना गोरमी अपने साथी के साथ वारदात करने के लिए जा रहा है। एसपी मनोज कुमार सिंह, एएसपी कमलेश कुमार खरपुसे ने शैतान और उसके साथी को पकड़ने के लिए टीम गठित की। रौन थाना प्रभारी उदयभान सिंह यादव और सायबर सेल प्रभारी शिव प्रताप सिंह की टीम गोहद से बाइक से जा रहे बदमाशों के पीछे लग गई। बदमाशों ने ग्वालियर की ओर बाइक दौड़ा दी। मालनपुर में पहले से ही पुलिस टीम को लगा दिया गया था। पुलिस चेकिंग देखकर बदमाशों ने औद्योगिक क्षेत्र में बंद भवन में छिपने के लिए बाइक सड़क पर छोड़ी और भागने लगे। इसी दौरान पुलिस ने उन्हें ललकारा तो बदमाशों ने रेत और गिट्टी के ढ़ेर के पीछे छिपकर फायरिंग शुरू कर दी। एक गोली एसआइ शिव प्रताप सिंह के दाहिने हाथ को छूते हुए निकली। इससे एसआइ घायल हो गए। पुलिस की ओर से भी जवाबी फायरिंग शुरू हो गई। मुठभेड़ की सूचना पर गोहद एसडीओपी सोलंकी और अन्य थानों का पुलिस बल मौके पर पहुंच गया। रात करीब 11 बजे बदमाशों की ओर से फायरिंग बंद हुई तो पुलिस बल आगे बढ़ा। मौके से कुख्यात शराब तस्कर शैतान सिंह भदौरिया पैर में गोली लगने से मौके पर पड़ा था। पास में उसका साथी इंद्रजीत सिंह भदौरिया था। पुलिस ने मौके से सड़क पर पड़ी बाइक, 12 बोर की अधिया, 32 बोर की पिस्टल और कारतूस बरामद किए हैं। घायल एसआइ शिव प्रताप सिंह, बदमाश शैतान सिंह भदौरिया को इलाज के लिए अस्पताल भिजवाया गया है।

बदमाश पर दिल्ली में भी अपराध दर्ज: चंबल आइजी ने 24 जून को 30 हजार रुपये का इनाम घाेषित किया था। शैतान सिंह पर दिल्ली के बसंत विहार थाने में दो अपराध सहित अब तक कुल नौ अपराध दर्ज हैं। ऊमरी, एंडोरी, गोरमी और मालनपुर थाने में आबकारी एक्ट और आम्र्स एक्ट में केस दर्ज हैं। एसपी मनोज कुमार सिंह का कहना है कि इसके अलावा और अपराधों की जांच करवाई जा रही है।

जिले का सबसे बड़ा शराब तस्कर है: पुलिस अधिकारियों की मानें तो पैर में गोली लगने से घायल 30 हजार रुपये का इनामी जिले का सबसे बड़ा शराब तस्कर है। शैतान सिंह खेतों और सुरक्षित स्थानों को देखकर अवैध शराब फैक्टरी शुरू करवाता है और वहां ओपी, बारदाना और शराब बनाने में इस्तेमाल होने वाला अन्य सामान खुद पहुंचाकर शराब तैयार करवाता है। तैयार शराब को शैतान सिंह खुद अपने तरीके से जिले और जिले के बाहर खपाता है। पुलिस को उसकी लंबे समय से तलाश थी, जो मालनपुर में शुक्रवार रात मुठभेड़ के बाद पूरी हुई।

Posted By: vikash.pandey

NaiDunia Local
NaiDunia Local