भिंड। कलेक्ट्रेट कार्यालय में अब थर्मल स्क्रीनिंग के बाद ही प्रवेश मिलेगा। कलेक्टर छोटे सिंह, एसपी नगेंद्र सिंह और सीएमएचओ डॉ. अजीत मिश्रा ने शनिवार को थर्मल स्क्रीनिंग बूथ का शुभारंभ किया। सीएमएचओ ने कहा स्क्रीनिंग के दौरान अगर किसी का तापमान ज्यादा आए तो तत्काल जिला सर्विलांस अधिकारी डॉ. अवधेश सोनी को फोन किया जाएगा। डॉ. सोनी संबंधित व्यक्ति को आइसोलेट कर जिला अस्पताल में आवश्यक जांच कराएंगे। आवश्यकता होने पर संबंधित का सैंपल लेकर जांच के लिए भेजेंगे।

जनता की गाढ़ी कमाई का दुरुपयोगः

कलेक्ट्रेट कार्यालय में थर्मल स्क्रीनिंग की सुविधा शुरू की जाना अच्छी पहल है, लेकिन इसके लिए जनता की गाढ़ी कमाई खर्च कर बूथ बनवाने की आवश्यकता नहीं थी। बूथ का सही उपयोग सैंपलिंग के लिए होना है, ताकि सैंपलिंग के दौरान चिकित्सा स्टाफ संदिग्ध व्यक्ति के संपर्क में आने से पूरी तरह से बचा रहे। कलेक्ट्रेट में थर्मल स्क्रीनिंग के लिए प्रशिक्षित कर्मचारी को थर्मल थर्मामीटर देकर ड्यूटी लगा दी जाती, जो प्रत्येक आने-जाने वाले की स्क्रीनिंग करता।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

जीतेगा भारत हारेगा कोरोना
जीतेगा भारत हारेगा कोरोना