अब्बास अहमद. भिंड। बेटियाें की कमी के लिए बदनाम रहे भिंड जिले की तस्वीर अब बदल रही है। बेटियों की कम संख्या को लेकर जिले के युवा सबसे ज्यादा जागरूक हैं। वे खुद तो जागरूक हैं ही, टोली बनाकर ग्रामीणों को भी जागरूक कर रहे हैं। युवाओं की ऐसी ही टोली शहर से 5 किमी दूर कीतरपुरा (चंदूपुरा) गांव में बनी है। यहां युवाओं की जागरूकता का असर है कि बेटी किसी के घर जन्मे, खुशियां पूरा गांव मनाता है। कीरतपुरा गांव के लोग अब तक 15 बेटियों के जन्म की सामूहिक खुशियां मना चुके हैं।

गांव में बढ़ रही बेटियों की संख्या

कीरतपुरा गांव के तिलक सिंह कहते हैं कि युवाओं ने मिलकर एसोसिएशन ऑफ मैनेजमेंट फॉर पावर्टी (केएएमपी) का गठन किया है। युवाओं की यह टोली पहले गरीबों को खोजकर उनकी मदद करती थी। काम करने के दौरान गांव में बेटी के जन्म पर मालूम हुआ कि लोगों के मन में भावना अच्छी नहीं रहती है। इससे ठाना कि अब युवाओं की टोली ग्रामीणों को बेटियों के लिए जागरूक करेगी।

करीब सालभर पहले काम शुरू हुआ तो लोग इतने जागरूक हो गए हैं कि गांव का दस्तूर बन गया है, बेटी किसी के घर जन्मे, लेकिन खुशियां पूरा गांव मनाता है। वर्ष 2011 की जनगणना के मुताबिक कीरतपुरा गांव में 2098 पुरुष और 1799 महिलाएं थी। 0 से 6 वर्ष की 274 बेटे और 234 बेटियां थी। अब यह संख्या बढ़ रही है। गांव में 394 बेटों पर 379 बेटियां हैं।

जिले में भी बढ़ रही बेटियों की संख्या

वर्ष 2011 की जनगणना में जिले का लिंगानुपात 837 था। यानी 1 हजार पुरुष और महिलाओं की संख्या 837 थी। जिलेभर में लगातार बेटियों के प्रति जन जागरूकता अभियान और लोगों की सोच में आए अंतर से अब यह संख्या बढ़कर वर्ष 2019 में 914 है। इस वर्ष जून तक बढ़कर महिलाओं की संख्या बढ़कर 948 हो गई है। जिले में दिनों-दिन लिंगानुपात की स्थिति में सुधार हो रहा है।

समारोह की तरह सजाते हैं बेटी का घर

बेटी का जन्म होने पर कीरतपुरा गांव में खुशियां मनाने में पूरा गांव शामिल होता है। गांव के लोग मिलकर फूलों, गुब्बारों और रंगोली बनाकर बेटी का घर सजाते हैं। यहां तक कि गांव की गलियां सजाई जाती हैं। बैंड-बाजों के साथ नवजात बेटी का गृह प्रवेश कराया जाता है। कोरोना से बचाव के लिए अब बेटी के गृह प्रवेश पर मास्क और सैनिटाइजर का तुलादान किया जा रहा है।

Posted By: Hemant Kumar Upadhyay

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

Raksha Bandhan 2020
Raksha Bandhan 2020