शहर के एमबीबीएस फाइनल इयर के स्टूडेंट्स ने की पहल

-पीपी फोटो सहित

भिंड(नईदुनिया प्रतिनिधि) । संक्रमित होने के बाद पूरी तरह सकारात्मक रहें। इससे बढ़कर कोई दवा नहीं है। बीमारी घातक है, पर इसकी चपेट में आने पर संयम रखा जाए तो जल्द काबू पाया जा सकता है। यह बात शहर के बीएचएमएस फाइनल इयर के स्टूडेंट्स ह्देयश दुबे ने कही। उन्होंने होमआइसोलेट मरीजों को परामर्श देने के लिए 10 डॉक्टर्स की टीम बनाई है। जिसमें उन्होंने प्रदेशभर के डॉक्टरों को जोड़ा है। सुबह 6बजे से लेकर रात 12 बजे तक आप निःशुल्क परामर्श ले सकते हैं।

25 वर्षीय ह्देयश पुत्र विनोद कुमार दुबे निवासी 17वीं बटालियन भोपाल के नारायण सिंह मेडिकल कॉलेज में फाइनल इयर के स्टूडेंट्स हैं और पीपुल्स अस्पताल में प्रैक्टिस कर रहे हैं। इससे पहले वह वर्ष 2018 से 2020 तक एबीवीपी में आयुष चिकित्सा प्रमुख भी रह चुके हैं। डॉ. ह्देयश ने बताया कि मैं अपने पापा से शहर के बढ़ते कोरोना के आंकड़े और वहां मिलने वाली स्वास्थ्य सुविधाओं के बारे में हर रोज पूछता था। इसके बाद मैंने सोचा क्यों न अपने जिले की लोगों की कुछ मदद की जाए। इसके लिए मैंने अपने साथियों और सीनियर्स से बातचीत की और होमआइसोलेट मरीजों को परामर्श देने के लिए 10 डॉक्टरों की टीम बनाई। जिसमें प्रदेशभर के डॉक्टर जुड़े हुए हैं। हालांकि इनमें कुछ डाक्टर अपने-अपने क्षेत्रों में होमआइसोलेट मरीजों को एक अप्रैल से ही परामर्श दे रहे हैं, लेकिन मैंने जिले में इसकी शुरुआत एक सप्ताह पहले की है। अब तक हमारी टीम की ओर से जिले के 200 मरीजों को परामर्श दिया जा चुका है। सुबह 6 से लेकर रात 12 बजे तक आप संबंधित संबंधित डाक्टर से फोन पर परामर्श ले सकते हैं।

इन डाक्टरों से कर सकते हैं सपर्कः

डॉ. राहत पटेल उज्जैन (सुबह 6 से 8) 9425916599, डॉ. सचिन इंदौर (सुबह 8 से 10) 6261790747, डॉ. ह्रदयेश दुबे (सुबह 10 से दोपहर 12 बजे) 7610696723, डॉ. उत्कर्ष राणे (दोपरह 12 से 2) 8839596803, डा सौरभ गुप्ता (दोपरह 2 से शाम 4) 9752843188, डॉ. अभिषेक लोधी अशोकनगर (शाम 4 से 6) 9685086554, 6263516463, डा नीतेश बघेल हरदा (शाम 6 से 8) 6261790747, डॉ. जयदीप गुर्जर भोपाल (रात 8 से 9)9009626476, डॉ. प्रांजल सोनी भोपाल (रात 9 से 10), डॉ. अमित भोपाल (रात 10 से 12) 8109324062 तक संपर्क कर सकते हैं।

नकारात्मक खबरों से बनाएं दूरी

डॉ. ह्देयश ने बताया कि इन्टरनेट मीडिया पर जो कोरोना को लेकर लोग तरह-तरह की भ्रांतियां फैला रहे हैं। उन भ्रांतियों और नकारात्मक खबरों से दूर रहें। एक महीने तक तो किसी भी सूरत में घर से ना निकले। अगर मजबूरी में घर से निकलना भी पड़े तो मास्क और हाथों में दस्ताने जरूर पहन लें। भीड़-भाड़ वाले स्थानों पर तो बिल्कुल न जाएं। मास्क ही इस बीमारी से बचने की सबसे बड़ी दवा है। मन को एकाग्र रखना चाहिए और अच्छे विचार मन में लाने चाहिए। घरवालों को भी मरीज की हिम्मत बढ़ाते रहना चाहिए। ये नहीं कि परिवार में कोई पाजिटिव हो गया है तो उसे अकेला छोड़कर अपनी जिम्मेदारी से भागें। सावधानी रखकर मरीज की सेवा करें। उसकी हिम्मत बढ़ाते रहें। सब ठीक हो जाएगा। खाने पीने का पूरा ध्यान रखें।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

NaiDunia Local
NaiDunia Local
 
Show More Tags