भिंड (नईदुनिया प्रतिनिधि)

पूर्व मंत्री चौधरी राकेश सिंह चतुर्वेदी ने कोविड-19 टीकाकरण में जिले में बड़े घोटाले का आरोप लगाया है। उन्होंने कहा कि सीएमएचओ ने टीकाकरण के नाम पर बड़ा घोटाला किया है। उन्होंने कहा कि टीकाकरण केंद्रों पर ड्यूटी करने वाले कर्मचारियों, वैक्सिनेटर और अन्य स्वास्थ्यकर्मियों के लिए शासन ने प्रशिक्षण की व्यवस्था की है। साथ ही प्रशिक्षण के दौरान प्रत्येक कर्मचारी प्रशिक्षण के दिन 300 रुपए मानदेय देना तय किया है, लेकिन किसी भी कर्मचारी को यह भत्ता नहीं मिला है।

यहां बता दें, एक चैनल को दिए इंटरव्यू में टीकाकरण व्यवस्था में आर्थिक घोटाले का आरोप लगाते हुए पूर्व मंत्री चतुर्वेदी ने गंभीर आरोप लगाए हैं। उन्होंने कहा कि यह बड़ा घोटाला है, जिसकी किसी को भनक तक नहीं लगी है। पूर्व मंत्री ने कहा प्रशिक्षण के दौरान प्रशिक्षण केन्द्रों पर व्यवस्था के लिए लॉजिस्टिक, डिस्पोल ग्लास और पानी के लिए 500 रुपये प्रति केंद्र सत्र राशि तय की गई है, लेकिन यह भी किसी केंद्र पर नहीं दी गई। साथ ही सत्र के दौरान जलपान, भोजन के लिए टीकाकरण टीम के प्रत्येक सदस्य को सौ रुपये प्रतिदिन के मानदेय से भुगतान किया जाना है, लेकिन यह राशि भी नहीं दी गई।

वर्जन:

पूर्व मंत्री के सभी आरोप बेबुनियाद हैं। मेरे पास कोई बजट नहीं रहता है। यह बजट हमारे यहां से सभी बीएमओ को ट्रांसफर कर दिया जाता है। उनके यहां से आनलाइन भुगतान किया जाता है।

डा. अजीत मिश्रा, सीएमएचओ, भिंड

Posted By: Ajaykumar.rawat

NaiDunia Local
NaiDunia Local