भिंड (नईदुनिया प्रतिनिधि)। Madhya Pradesh News : बेटियों की कम संख्या के लिए बदनाम चंबल में अब बदलाव की बयार बह रही है। यहां के कीरतपुरा गांव की बहू ने बेटी को जन्म दिया तो पूरे गांव में खुशियां मनाईं गईं। सोमवार को अस्पताल से नवजात घर आई तो गांव की गलियां फूलों से सजाईं गईं। लॉकडाउन का उल्लंघन न हो इसलिए आयोजन में सिर्फ परिवार के लोग शामिल हुए।बच्ची का तुलादान सैनिटाइजर से किया गया। बाद में इसे गांव के लोगों को बांट दिया गया।

गृह प्रवेश पर फूलों से सजाई घर की राह

कीरतपुरा गांव निवासी देवेंद्र सिंह के बेटे अरविंद भदौरिया की पत्नी निकिता भदौरिया ने 18 अप्रैल को बेटी को जन्म दिया। देवेंद्र सिंह भदौरिया के दो बेटे हैं।

बेटी के जन्म ने खुशियां दोगुनी कर दीं

अरविंद छोटे बेटे हैं। बेटी के जन्म ने उनकी खुशियां दोगुनी कर दीं। लॉकडाउन होने से गांव भदौरिया परिवार के साथ खुशी में शामिल तो नहीं हुआ, लेकिन गलियों को नन्हीं बिटिया के लिए फूलों से सजा दिया गया। फूलों से सजे कीरतपुरा गांव के रास्तों से मां, पिता, दादा और दादी की गोदी में नन्हीं मासूम ने गृह प्रवेश किया।

घर में तुलादान का इंतजाम किया

बेटी के जन्म को यादगार बनाने के लिए श्री भदाैरिया ने घर में उसका तुलादान का इंतजाम किया था। तुलादान सैनिटाइजर की बोतलों से किया गया। बाद में इन सैनिटाइजर की बोतलों को गांव के लोगों के बीच बांट दिया गया। इस तरह जन्म के बाद से ही मासूम कोरोना वायरस से लड़ाई में परिवार और गांव के साथ शामिल हो गई।

Posted By: Hemant Kumar Upadhyay

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

जीतेगा भारत हारेगा कोरोना
जीतेगा भारत हारेगा कोरोना