भिंड(नईदुनिया प्रतिनिधि)। बारिश के बाद मुख्य मार्गों से लेकर गली-मोहल्लों में जलभराव न हो। इसको लेकर नगर पालिका ने प्रयास शुरू कर दिए हैं। रविवार को कलेक्टर डॉ सतीश कुमार एस, नपा सीएमओ वीरेंद्र तिवारी सहित अन्य कर्मचारियों ने शहर के वनखंडेश्वर वाली रोड, गायत्री मंदिर, किला रोड सहित अन्य जगहों का निरीक्षण किया। इस दौरान जिन जगहों पर गंदगी के ढेर लगे हुए थे, उन्हें तुरंत हटवाया गया। साथ ही कलेक्टर ने नालों की साफ-सफाई कराए जाने को लेकर संबंधित अधिकारियों को निर्देशित किया है। बता दें कि इस बार बारिश से पहले नपा के द्वारा पहले से कोई तैयारी नहीं की गई।

बता दें कि सीवर और पानी की पाइप लाइन बिछाए जाने के चलते शहर की ज्यादातर सड़कें उखड़ी पड़ी हैं। बारिश के चलते राहगीरों को हर दिन उखड़-खाबड़ रास्तों और कीचड़ के बीच से होकर निकलना पड़ रहा है। वहीं इस बार बारिश से पहले नगर पालिका के द्वारा गंदगी से भरे पड़े नाले-नालियों की साफ-सफाई कराए जाने को लेकर कोई ध्यान नहीं दिया गया। जबकि हर साल अप्रैल और मई माह में बारिश को देखते हुए शहर के नाले-नालियों की साफ-सफाई कराई जाती है। जिससे बारिश के समय जलभराव की समस्या उत्पन्ना न हो। लेकिन तत्कालीन नपा सीएमओ ने इस ओर बिल्कुल भी ध्यान नहीं दिया। हालांकि रविवार को कलेक्टर और नपा सीएमओ शहर की सड़कों पर नजर आए। साथ ही गायत्री मंदिर से वनखंडेश्वर मंदिर को जोड़ने वाली सड़क, गायत्री मंदिर से होकर निकले नाले की साफ-सफाई कराई गई। इस दौरान नपा इंजीनियर दीपक अग्रवाल, समाजसेवी अश्वनी तिवारी सहित अन्य मौजूद रहे।

पालीथिन से पटे पड़े हैं नालेः

शहर में हाउसिंग कालोनी, राजहोली, छोटी माता गढैया, अटेर रोड सहित अन्य नाले और नालियों को पालीथिन ने भी कई जगह अवरुद्ध किया हुआ है। अगर नियमित रूप से इनकी साफ सफाई होती रहे तब तक तो ठीक अन्यथा यह कचरे के साथ पानी रोकने का काम करने लगती है। प्रतिबंध के बाद भी पालीथिन का प्रचलन नहीं थम सका है। जहां एक ओर नाले-नालियों को चोक कर रही है, वहीं दूसरी ओर पशुओं के लिए काल साबित हो रही है।

पनप रहे मच्छरः

नालों की सफाई न होने से इनमें जलभराव बने रहने से जहां एक ओर बदबू फैल रही है वहीं दूसरी ओर मच्छर पनप रहे हैं। इस कारण लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। पिछले साल जिलेभर में डेंगू के मरीजों की संख्या तेजी से बढ़ी थी। शहर में अगर जल्द ही निकासी की व्यवस्था बनाने और नालों की सफाई नहीं की गई तो मच्छर जनित बीमारियां फैलने का खतरा बढ़ सकता है।

कलेक्टर ने दिए निर्देशः

रविवार को निरीक्षण के दौरान कलेक्टर ने नाले-नालियों की साफ-सफाई कराए जाने को लेकर नपा सीएमओ को निर्देश दिए। जिससे कि बारिश के समय शहरवासियों को जलभराव की समस्या से जूझना न पड़े। साथ ही नाले की सफाई के बाद कचरे के ढेर तुरंत हटवाए जाने की बात कही।

-शहर में साफ-सफाई व्यवस्था बनाए जाने को लेकर हर संभव प्रयास किए जा रहे हैं। वहीं नालों की साफ-सफाई कराए जाने को लेकर कर्मचारियों को निर्देशित किया जा चुका है।

वीरेंद्र तिवारी, सीएमओ नपा भिंड।

Posted By:

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close