-डेंगू पर प्रहार जन अभियान जागरुकता रथ को दिखाई हरि झंडी

भिंड(नईदुनिया प्रतिनिधि)। डेंगू पर नियंत्रण के लिए (डेंगू पर प्रहार) अभियान अंतर्गत शहर के भीमनगर में डेंगू पर प्रहार जन अभियान जागरूकता रथ को भिंड विधायक संजीव सिंह कुशवाह एवं कलेक्टर डॉ. सतीश कुमार एस ने हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। साथ ही मच्छर जन्य परिस्थितियों के उपायों पर विशेष जागरुकता अभियान चलाया गया।

भिंड विधायक ने डेंगू, मलेरिया को फैलने से रोकने और बचाव के संबंध में लोगों को जागरुक करते हुए कहा कि डेंगू, मलेरिया जैसी बीमारी बारिश के मौसम में और उसके बाद के महीनों में सबसे ज्यादा फैलती हैं, क्योंकि इस मौसम में मच्छरों के पनपने के लिए अनुकूल परिस्थितियां होती हैं। डेंगू का मच्छर ज्यादा ऊंचाई तक उड़ नहीं पता है। डेंगू का मच्छर खासतौर पर सुबह के वक्त काटता है। काटे जाने के करीब 3-5 दिनों के बाद मरीज में डेंगू बुखार के लक्षण दिखने लगते हैं। कलेक्टर ने कहा कि डेंगू का मच्छर ठहरे हुए पानी में पनपता है इसलिए घरों में और आसपास के इलाको में पानी न जमा होने दें, कूलर में भरा पानी 2 से 3 दिन बाद जरूर बदल दें, सभी लोग अपने घर में पानी में केरोसीन या फिनायल डालकर नियमित पोछा लगाएं। मानसून के आगमन के साथ ही बदलते मौसम में डेंगू, चिकन गुनिया व मलेरिया जैसी मच्छर व जल जनित बीमारियां फैलने का अंदेशा बना रहता है। यह सभी बीमारियां भी घातक हैं और जानलेवा भी साबित हो सकती हैं। ऐसे में जरूरी है कि इन बीमारियों से बचाव को लेकर पहले से ही आवश्यक कदम उठाए जाएं।

बचाव के तरीकेः

किसी जगह पर रुके हुए पानी में मच्छर पनप सकते हैं और इसी से डेंगू भी फैल सकता है। जिन बर्तनों का लंबे समय तक इस्तेमाल नहीं होना हो उनमें रखे हुए पानी को नियमित रूप से बदलते रहें। गमलों के पानी को हर हफ्ते बदलते रहें। सेप्टिक टैंक, रुकी हुई नालियां और कुएं आदि जगहों को नियमित रूप से चेक करते रहें, मच्छरों से बचाव के लिए सबसे पहले तो जब भी आप घर से बाहर जाएं मच्छर से बचाव वाली क्रीम का उपयोग करें और सोने से पहले मच्छरदानी को अच्छी तरह से सेट कर लें, डेंगू के लक्ष्‌ण दिखने पर तुरंत नजदीकि अस्पताल में जाकर डाक्टर से संपर्क करें और बताए गए उपचार का निर्देशानुसार पालन करें।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local