भिंड(नईदुनिया प्रतिनिधि)। भिंड मुख्यालय से 35 किमी दूर घिनौची गांव के बीहड़ में तेंदुए की मौत की अफवाह उड़ी तो पूरा वन अमला दिनभर क्षेत्र की खाक छानता रहा। देर शाम इस मसले पर अधिकारियों ने स्पष्टीकरण दिया और खबर को महज एक अफवाह बताया। दरअसल शनिवार की सुबह अटेर सहित नजदीकी गांवों में एक अफवाह चली की ग्राम घिनौची पंचायत सीमा अंतर्गत नूरी बाबा देवस्थान के पास निर्माणधीन गोशाला के नजदीक एक तेंदुए का शव पड़ा हुआ है। सूचना मिलते ही स्थानीय एव मुख्यलय भिंड वन विभाग अधिकारी तथा कर्मचारी जा पहुंचे, किंतु बताए हुए स्थान पर किसी भी जंगली जानवर की मौत होने तथा शव के किसी भी प्रकार के निशान नहीं मिले।

यह है पूरा मामलाः

यहां बता दें अटेर वन विभाग अंतर्गत आने वाली ग्राम घिनोची बीट कक्ष क्रमांक 15 के नूरी बाबा देवस्थान के पास निर्माणधीन गोशाला के समीप तेंदुए के मृत होने की खबर मिलते ही सुबह करीब 7.30 बजे स्थानीय लोगों के अलावा भिंड से पहुंचे वन विभाग के अधिकारी व कर्मचारियों ने मृत तेंदुआ की तलाश में घंटों मशक्कत की। इतना ही नहीं बीहड़ तथा खेतों में खड़ी बाजरा की फसलों में भी तलाशी ली गई। इसके साथ ही गोशाला के पीछे हाल ही में ताजा खुदे पड़े एक गड्ढे को भी खोदकर तेंदुआ के शव की तलाश की, लेकिन तेंदुआ या किसी भी जंगली जानवर का कोई भी शव या निशान नहीं मिला। सुबह करीब 7.30 से 10.55 बजे यानि करीब साढ़े चार घंटे तक रेंजर सतेंद्र सिंह सिकरवार सहित डिप्टी रेंजर भूपसिंह, वनरक्षक अरविंद भदौरिया, सुनील शर्मा वन विभाग के अमले ने घिनोची बीट के कक्ष क्रमांक 15 में मृत तेंदुआ की तलाश में चक्रघिन्नी बनी रही। जो अंत में मात्र अफवाह निकली।

-ग्राम घिनोची बीट के कक्ष क्रमांक 15 में तेंदुआ के मरने की खबर मिली थी, जिसकी तलाश विभाग के कर्मचारियों ने लगभग साढ़े चार घंटे तक की, लेकिन बीहड़ में कही भी किसी भी जंगली जानवर के मरने के निशान तक नहीं मिले है। तेंदुआ मरने की खबर मात्र अफवाह है।

सतेंद्र सिंह सिकरवार, रेंजर वन विभाग अटेर

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close