भिंड । स्कूल शिक्षा विभाग ने 1 सितंबर से 6वीं से 12वीं तक के सभी सरकारी और प्राइवेट स्कूलों की कक्षाएं 50 प्रतिशत क्षमता के साथ लगाने की अनुमति जारी कर दी है। स्कूल संचालन के लिए स्कूल संचालकों को सुरक्षा के लिहाज से कुछ शर्तों का पालन करना होगा। शालाओं में कार्यरत सभी स्टाफ को कोरोना से सुरक्षा के लिए टीके का कम से कम एक डोज लगा होना अनिवार्य होगा। यदि किसी स्टाफ ने एक बार भी टीकाकरण नहीं करवाया हो तो संबंधित को तत्काल टीका लगवाना होगा।

इसके अलावा स्कूल में पढ़ाई के लिए आने वाले छात्र-छात्राओं को विद्यालय में तभी शामिल किया जाएगा जबकि वह अभिभावकों की सहमति लेकर आएंगे। शिक्षा विभाग ने प्राचार्य, प्रधान अध्यापक, शाला प्रमुख को यह भी निर्देश दिए हैं कि वे अपने स्तर से विद्यार्थियों की संख्या के आधार पर कोविड-19 प्रोटोकाल का पालन करते हुए स्कूल का संचालन करें। इसके साथ ही स्कूल में बिना मास्क लगाकर आने वाले विद्यार्थीयिों को प्रवेश नहीं दिया जाएगा। इसके साथ ही कक्षाओं सुरक्षित शारीरिक दूरी का विशेष ख्याल रखना होगा।

दूरदर्शन पर प्रसारण जारी रहेगा

स्कूल में कक्षावार तय दिन के अलावा अन्य दिनों में आनलाइन क्लास पहले की तरह संचालित की जा सकेंगी। दूरदर्शन और इंटरनेट मीडिया ग्रुप पर शैक्षिक सामग्री का प्रसारण पहले की तरह जारी रहेगा। स्कूलों में भारत सरकार राज्य सरकार से जारी एसओपी का समय-समय पर पालन करना अनिवार्य होगा। प्राइवेट स्कूल संचालकों ने इस निर्णय को विद्यार्थियों के हित में बताया। उन्होंने कहा उनका संगठन लंबे समय से यह मांग कर रहा था कि स्कूल छोटे बच्चों के लिए खोल देना चाहिए थे। इस मामले को लेकर निजी स्कूल संचालकों ने शासन से शीघ्र स्कूल खोलने की मांग भी की थी।

15 सितंबर से सभी कालेज खुलेंगे

स्कूल शिक्षा विभाग के साथ-साथ उच्च शिक्षा विभाग भी प्रदेश के सभी कॉलेज 15 सितंबर से खोलने का निर्णय ले रहा है। हालांकि उच्च शिक्षा विभाग की एडमिशन के लिए जारी गाइडलाइन के अनुसार 1 सितंबर से कालेजों में कक्षाएं लगना शुरू होना हैं। इसके साथ ही फिलहाल 50 प्रतिशत स्टूडेंट्स ही आएंगे, जबकि शेष 50 प्रतिशत ऑनलाइन क्लास ज्वाइन करेंगे। शिक्षकों के साथ छात्रों और स्टाफ का शत प्रतिशत वैक्सीनेशन होना आवश्यक है। जरूरी हुआ तो कालेजों में भी वैक्सीनेशन कैंप लगाए जाएंगे। उन्होंने यह स्पष्ट किया कि प्रदेश के सभी कॉलेजों को यह अधिकार दिए गए हैं कि कब कौन सी क्लास लगाएंगे। कॉलेज इसका निर्णय खुद कर सकता है।

इन शर्तों का करना होगा पालन

-स्कूल में पदस्थ समस्त स्टाफ को टीके का कम से कम एक डोज लगा हो। यदि किसी स्टाफ द्वारा वैक्सीन का एक भी डोज नहीं लगवा हो तो उसे तत्काल टीकाकरण कराना होगा।

-अभिभावकों की सहमति से विद्यार्थी उपस्थित हो सकेंगे।

- स्कूलों में कक्षाएं नियत दिवसों के अतिरिक्त अन्य दिवासों में आनलाइन कक्षाएं पूर्ववत संचालित की जा सकेंगीं।

- स्कूलों में केंद्र एवं राज्य सरकार से जारी एसपीओ एवं कोविड प्रोटोकाल का पालन किया जाना अनिवार्य होगा।

-एक सितंबर से 6वीं से लेकर 8वीं तक के सभी शासकीय और प्राइवेट स्कूल 50 प्रतिशत की क्षमता के साथ खोले जाएंगे। इस दौरान कोविड बचाव को लेकर बनाए गए नियमों का सभी को सख्ती से पालन करना होगा।

शैलेंद्र सिंह, बीआरसी लहार

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local