मेहगांव(भिंड)। पति की रोज-रोज की पिटाई से तंग महिला का मां-पिता और बड़ी बहन ने साथ नहीं दिया। उसने मेहगांव टीआई मनीष शर्मा को आपबीती सुनाई। टीआई ने महिला से अपनी कलाई पर रक्षा सूत्र बंधवाया। पैर छूकर कहा जीवनभर भाई का फर्ज अदा करूंगा।

इसके बाद महिला के पति को थाने बुलाया। कहा, आपकी पत्नी अब मेरी बहन हैं। इन्हें परेशान किया तो तुम्हारी खैर नहीं। पति ने थाने में ही 4 माह बाद पत्नी की मांग में सिंदूर भरा। भरोसा दिया कि वह अब पत्नी को कभी परेशान नहीं करेगा। इस तरह पति-पत्नी थाने से अपने घर गए।

सिहौनियां निवासी वर्षा देवी की शादी 2014 में मेहगांव के सोनी का पुरा निवासी मनोज कुमार जाटव के साथ हुई थी। वर्षा और मनोज की दो बेटी हैं। चार माह से मनोज किसी न किसी बात पर वर्षा के साथ मारपीट कर रहा था। शनिवार को वर्षा छोटी बेटी को लेकर मेहगांव थाने पहुंची और टीआई को आपबीती सुनाई।

शर्मा ने अपनी कलाई पर रक्षा सूत्र बंधवाया और पैर छूकर सुरक्षा का भरोसा दिया। टीआई को वर्षा ने बताया कि पति मनोज बड़ी बहन गिरिजा के बहकावे में आकर मारपीट करता है। टीआई ने मनोज और गिरिजा को थाने बुलवाया व समझाया। महिला के पति से कहा कि वर्षा को मैंने बहन माना है। अब तुम मेरी बहनोई हुए, पत्नी को परेशान किया तो ठीक नहीं होगा। थाने में ही पति-पत्नी ने सुलह की। मनोज ने 4 माह बाद टीआई के चेंबर में पत्नी की मांग में सिंदूर भरा।