भोपाल (नवदुनिया प्रतिनिधि) Coronavirus Bhopal News:। अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) भोपाल में कोरोना मरीजों के लिए 165 बिस्तर का आइसीयू तैयार किया जाएगा। इसके अलावा अन्य तरह के बिस्तर मिलाकर कुल 500 बिस्तर कोरोना मरीजों के लिए आरक्षित रहेंगे। प्रदेश भर में कोरोना मरीजों की बढ़ती संख्या को देखते हुए एम्स को कोविड अस्पताल बना दिया गया है। हालांकि, यहां पर गैर-कोरोना मरीजों को सिर्फ इमरजेंसी होने पर ही इलाज मिल जाएगा। 19 अप्रैल से साधारण मरीजों के लिए ओपीडी बंद कर दी जाएगी। सिर्फ इमरजेंसी ओपीडी चलेगी। साथ ही नियमित ऑपरेशन भी बंद कर दिए जाएंगे। सिर्फ इमरजेंसी मामलों में ही ऑपरेशन होंगे।

कोविड अस्पताल को लेकर तैयारियों का जायजा लेने के लिए चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास सारंग गुरुवार को एम्‍स पहुंचे। उनके साथ चिकित्सा शिक्षा आयुक्त निशांत वरवड़े भी थे। मंत्री ने बताया कि एम्स में गैर-कोरोना मरीजों की धीरे-धीरे छुट्टी कर दी जाएगी। धीरे-धीरे वार्ड बढ़ाकर गैर-कोरोना मरीजों को भर्ती किया जाएगा। उन्होंने बताया कि एम्स में अभी 132 मरीज भर्ती हैं। यहां 30 बिस्तर का आइसीयू है, जिसे बढ़ाकर 165 बिस्तर का किया जाएगा।

एम्स में कुल 870 बिस्तर हैं। इनमें बाकी बिस्तर गंभीर बीमारियों से पीड़ित गैर-कोरोना मरीजों के लिए होंगे। एम्स में बिस्तर बढ़ने से कोरोना से पीड़ित गंभीर मरीजों के इलाज में आसानी हो जाएगी। वजह, यहां पर सीटी स्कैन समेत सभी तरह की जांच की सुविधाएं और अच्छे चिकित्सक हैं। एम्स में भोपाल ही नहीं आसपास के जिलों के मरीज भी आ रहे हैं। बता दें कि रेडक्रॉस अस्पताल में भी कोरोना मरीजों के लिए 50 बिस्तर बढ़ाए जा रहे हैं।

Posted By: Ravindra Soni

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

NaiDunia Local
NaiDunia Local
 
Show More Tags