भोपाल (नईदुनिया प्रतिनिधि)। सरकारी स्कूलों में संचालित होने वाले वोकेशनल कोर्स के लिए आउटसोर्सिंग पर प्रशिक्षक रखे जाते हैं। इसके लिए विभाग हर साल ट्रेड के हिसाब से प्रायवेट कंपनियों से अनुबंध कर ट्रेनर की नियुक्ति करता है।

अभी कोरोना संक्रमण के समय केंद्र सरकार के निर्देशों को अनदेखा करते हुए स्कूल शिक्षा विभाग ने आदेश जारी कर व्यावसायिक कोर्स की ट्रेनिंग देने वाले 2400 प्रशिक्षकों की एक अप्रैल से सेवाएं समाप्त कर दी है।

लोक शिक्षण संचालनालय (डीपीआई) ने आदेश जारी कर स्किल इंडिया प्रोग्राम के तहत कार्यरत सभी प्रशिक्षकों की सेवाएं समाप्त कर अगले आदेश तक के लिए प्रशिक्षण कार्यक्रम स्थगित कर दिया गया है। इन प्रशिक्षकों को सरकारी स्कूलों में व्यवयायिक प्रशिक्षण के लिए रखा गया था। बताया जा रहा है कि प्रशिक्षकों को आठ माह से वेतन का भुगतान भी नहीं हुआ है।

प्रशिक्षकों का कहना है कि भारत सरकार के मानव संसाधन विकास मंत्रालय ने स्पष्ट आदेश दिया है कि कोई भी संस्थान चाहे वह प्रायवेट हो या सरकारी किसी भी कर्मचारी की सेवाएं समाप्त नहीं कर सकता। इस दौरान कर्मचारी को पूरा वेतन दिया जाएगा।

ज्ञात हो कि सभी प्रशिक्षक स्किल इंडिया के तहत मप्र सरकार के अधीन वोकेशनल ट्रेनर पार्टनर के माध्यम से व्यवसायिक प्रशिक्षक के पद पर कार्यरत हैं। मप्र के लगभग 1200 विद्यालयों में व्यावसायिक पाठ्यक्रम के 9 ट्रेड संचालित हैं, जिसमें 2400 प्रशिक्षक कार्यरत हैं।

रोजगार का संकट सामने आएगा

प्रशिक्षक अनिता शुक्ला व पूजा अग्रवाल सहित अन्य का कहना है कि इस संकट के समय में अचानक उनकी सेवाएं खत्म करने से उनके सामने रोजी-रोटी का बड़ा संकट खड़ा हो गया है। कोरोना महामारी को देखते हुए केंद्र सरकार द्वारा कहा गया है कि किसी को सेवा से नहीं निकाला जाएगा, लेकिन विभाग ने इसका पालन नहीं किया।

आठ माह से वेतन का भुगतान नहीं हुआ

ट्रेनर ज्योति मेहरा ने बताया कि इस कोर्स के तहत ब्यूटी एंड वैलनेस का कोर्स संचालित किया जा रहा है। इस कोर्स के लिए लेबरनेट प्रायवेट लिमिटेड कंपनी से अनुबंध किया गया है। इसके तहत प्रदेशभर में 70 प्रशिक्षक नियुक्त किए गए थे। इन्हें आठ माह से वेतन का भुगतान नहीं किया गया है।

इनका कहना है

एक अप्रैल से स्कूलों का नया सत्र शुरू होता है। व्यावसायिक प्रशिक्षकों को फिर से रिन्यू किया जाता है। इस बार भी विचार किया जाएगा।

जयश्री कियावत, आयुक्त, डीपीआई

Posted By: Hemant Kumar Upadhyay

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

जीतेगा भारत हारेगा कोरोना
जीतेगा भारत हारेगा कोरोना