भोपाल। आयकर विभाग से मिले करोड़ों रुपए टैक्स जमा करने का नोटिस देखकर मध्यप्रदेश के दो युवकों की नींद उड़ी है। विभाग के नोटिस से उन्हें पता चला कि एक्सिस बैंक मुंबई में उनके नाम से चल रहे खाते में क्रमश:1.32 अरब एवं 1.42 अरब रुपए जमा हुए और निकल गए। रवि गुप्ता (भिंड) और कपिल शुक्ला (रीवा) इस रहस्यमय मामले की गुत्थी को लेकर आयकर सहित केंद्रीय जांच एजेंसियां भी सक्रिय हो गई हैं।

चौंकाने वाला यह मामला वर्ष 2011-12 का है, जब दोनों युवक रवि गुप्ता और कपिल शुक्ला इंदौर स्थित एक बहुराष्ट्रीय कंपनी टेली परफार्मेंस कंपनी (कॉल सेंटर) में काम करते थे, तब उन्हें बमुश्किल 6-7 हजार रुपए वेतन मिलता था। उसी वक्त उन्होंने अपनी कंपनी में अपने दस्तावेज (केवायसी) जमा कराए थे।

बाद में उन्होंने नौकरी छोड़ दी। रवि गुप्ता लुधियाना में किसी निजी संस्था में नौकरी करने लगा जबकि कपिल ने रीवा जाकर इंटरनेट कैफे की दुकान खोल ली। रवि गुप्ता का वेतन अब भी आयकर के दायरे में नहीं है लेकिन वह आयकर विवरण भरता है, जबकि कपिल ने कभी आयकर विवरण भी नहीं भरा। इस संबंध में आयकर विभाग के वरिष्ठ अफसरों से जब संपर्क किया तो उनकी प्रतिक्रिया नहीं मिली।

राशि कहां से आई, कहां गई एक पहेली!

दोनों युवकों का दावा है कि उन्हें आयकर विभाग के डिमांड नोटिस (3.5 एवं 1.06 करोड़ रुपए) से यह जानकारी मिली कि उनके नाम पर एक्सिस बैंक की बांद्रा रिक्लेमशन ब्रांच मुंबई में खाते मौजूद हैं और उनमें क्रमश: 132 एवं 142 करोड़ रुपए जमा हुए और निकल गए।

इतनी बड़ी राशि कहां से आई और कहां गई उन्हें नहीं मालूम। आयकर विभाग ने जब उन्हें डिमांड नोटिस भेजा तो मामले की गंभीरता समझ में आई। दोनों खातों में युवकों के निवास का पता मुंबई ही दिया गया है जबकि उनका कहना है कि वे मुंबई गए ही नहीं।

मेहुल चौकसी और नीरव मोदी का इलाका

मीडिया से चर्चा में रवि गुप्ता ने यह भी दावा किया कि जिस इलाके में एक्सिस बैंक और उनके निवास का पता दिखाया गया है, उसी क्षेत्र में मेहुल चौकसी और नीरव मोदी की कंपनी भी मौजूद है। इस वजह से आयकर और सीबीआई जैसी जांच एजेंसियां छानबीन में सक्रिय हो गई हैं। रवि ने यह भी बताया कि उसने दोनों जांच एजेंसियों को अपनी ओर से पूरी असलियत बयान कर दी है।

Posted By: Sandeep Chourey

fantasy cricket
fantasy cricket