भोपाल (नवदुनिया स्टेट ब्यूरो)। बेटे की फीस के लिए प्रशिक्षु रेंजर अमित साहू से 30 हजार रुपये मांगने के मामले में फंसे बैतूल के पूर्व मुख्य वनसंरक्षक मोहनलाल मीणा की परेशानी बढ़ सकती है। इस मामले की जांच के लिए भेजे गए दो सदस्यीय दल ने वन बल प्रमुख रमेश गुप्ता को रिपोर्ट सौंप दी है। वे रिपोर्ट का अध्ययन कर अनुशंसा के साथ अपनी रिपोर्ट शासन को भेजेंगे। वहीं, महिला कर्मचारियों को प्रताड़ित करने के मामले की जांच रिपोर्ट अभी तैयार नहीं हुई है। यह रिपोर्ट भी इस हफ्ते तक आ सकती है। इस मामले में मीणा के फंसने की ज्यादा आशंका है, क्योंकि पीड़ित महिलाओं ने जांच दल से खुलकर बात की है।

इंटरनेट मीडिया पर 19 मई को वायरल आडियो में लेन-देन के लिए आइएफएस मीणा की आवाज बताई जा रही थी। इसकी शिकायत वन बल प्रमुख से भी हुई थी। इसके लिए अपर प्रधान मुख्य वनसंरक्षक विभाष ठाकुर और शुभरंजन सेन को जांच सौंपी गई थी।

जांच के लिए बैतूल गए दल को लेन-देन के तीन और आडियो भी मिल गए। सभी की जांच कर रिपोर्ट सौंपी गई है। इस दौरान महिला कर्मचारियों को प्रताड़ित करने की बात भी सामने आई थी। जांच दल ने इसकी जांच अलग से कराने की अनुशंसा की थी। वन मुख्यालय ने अपर प्रधान मुख्य वनसंरक्षक बिंदु शर्मा और अर्चना शुक्ला को यह जांच सौंपी थी। जानकार बताते हैं पीड़ित महिला कर्मचारियों ने मीणा के खिलाफ खुलकर बयान दिए हैं। यह दल इस हफ्ते तक रिपोर्ट सौंप सकता है।

Posted By: Prashant Pandey

NaiDunia Local
NaiDunia Local