भोपाल। लोकायुक्त पुलिस ने सीहोर जिले के खाद्य निरीक्षक राजेश तिवारी को 50 हजार रुपए की रिश्वत लेते हुए गिरफ्तार करने के बाद उसके भोपाल स्थित निवास पर तलाशी ली। यहां लोकायुक्त पुलिस को 82 हजार रुपए की नकद राशि मिली। तलाशी में लोकायुक्त पुलिस को तीन बैंक खाते व एक लोन खाता मिला। खाद्य निरीक्षक राजेश तिवारी को आष्टा में रिश्वत लेते हुए रंगे हाथों गिरफ्तार करने के बाद लोकायुक्त पुलिस ने उसके भोपाल स्थित शक्ति नगर के निवास पर तलाशी शुरू की।

खुद का फ्लैट है, लेकिन किराए से रहते

शक्ति नगर में वे किराए के फ्लैट में रहते हैं, जबकि उनका साकेत नगर में अपना फ्लैट है। करीब चार साल पहले उन्होंने साकेत नगर में फ्लैट लिया था, जिसे उन्होंने अपनी पैतृक संपत्ति बेचने से मिली राशि से खरीदना बताया है। हालांकि बैंक अकाउंट की डिटेल में पैतृक संपत्ति की राशि का ट्रांजेक्शन नहीं पाया गया है।

घर में नहीं मिला कोई सोने का जेवर, छापा पड़ा तब शहर में नहीं थी पत्नी

लोकायुक्त पुलिस ने बताया है कि राजेश तिवारी के घर की तलाशी में सोने का कोई भी जेवर नहीं मिला, जबकि चांदी के कुछ जेवरात मिले हैं। तिवारी की पत्नी पारिवारिक कार्यक्रम में पुणे गई थी। दो बेटियां हैं, जो इंदौर में पढ़ती हैं। लोकायुक्त पुलिस की टीम ने उनके घर से दस्तावेज जब्त कर लिए हैं। अब बैंक से उनके लॉकर की जानकारी भी ली जाएगी। वैसे तिवारी ने लोकायुक्त पुलिस को बताया है कि उनके पास बैंक का कोई भी लॉकर नहीं है। लेकिन पुलिस जांच में जुटी है।

Posted By: Sandeep Chourey

fantasy cricket
fantasy cricket