भोपाल। देशभर में बोहरा समाज जब 11 अगस्त (रविवार) को ईद मना रहा था तब भी सुबह नमाज अता करने के बाद भोपाल (मप्र) के सैफद्दीन फैज (64) भोपाल रेलवे स्टेशन पर साफ- सफाई करते रहे । फैज भोपाल में कारोबारी हैं। स्वच्छ भारत के लिए जुनून के चलते वे सफाई अभियान में जुट गए। ढाई साल से वे बिना संगठन के अकेले ही नियमित रूप से स्वच्छता अभियान चला रहे हैं।

रोजाना सुबह 9 बजे से शहर में सफाई का काम शुरू कर देते हैं। हर रोज कि सी न कि सी गली में वे कचरा बंटोरते दिख जाएंगे। रविवार को बोहरा समाज की ईद थी। परिवार और समाज के लोग ईद मना रहे थे। लेकि न सैफु द्दीन अपने नियमित स्वच्छता अभियान में जुटे हुए थे।

उन्होंने बताया कि मुझे अपने इस अभियान में ही खुशी मिलती है। मेरा मकसद लोगों को स्वच्छता के प्रति जागरूक करना है। यदि लोग अपनी गंदगी को खुद ही साफ कर लें तो पूरा देश ही स्वच्छ हो जाएगा। फैज स्वच्छता के लिए कि सी से कोई मदद नहीं लेते हैं।

परिवार के लोग ही घृणा करने लगे थे

बुजुर्ग फैज ने बताया कि उन्हें शुरू में यह काम करने में काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ा। परिवार के लोग ही उनसे घृणा करने लगे थे। कई लोगों ने धमकी भी दी। लेकि न मेरा मकसद ईमानदारी से स्वच्छता की अलख जगाने का है, इसलिए जब तक हाथ-पैर चल रहे हैं, मैं अपना यह अभियान जारी रखूंगा।

मुंबई, बडोदरा व नागपुर में भी की सफाई

रेलवे स्टेशव पर सफाई करते हैं तो बकायादा टिकट भी खरीदते हैं। रविवार को सैफु द्दीन ने सीहोर का 10 रुपए का पैसेंजर टिकट खरीदा था,क्योंकि यह 12 घंटे तक के लिए मान्य होता है। इससे वे स्टेशन पर 4 से 5 घंटे सफाई कर पाए। उन्होंने बताया कि मैं पिछले दिनों अपने रिश्तेदारों के पास मुंबई, बडोदरा, नागपुर और टीकमगढ़ गया था। वहां भी मैंने अपना सफाई अभियान जारी रखा।

डीआरएम ने किया सम्मानित

स्वच्छ रेल, स्वच्छ भारत अभियान में योगदान दे रहे सैफुद्दीन फैज को रविवार को डीआरएम (मंडल रेल प्रबंधक) उदय बोरवणकर ने भोपाल रेलवे स्टेशन पर शाल और बुके देकर सम्मानित किया।

देश में पहली बार रायपुर में निकली 15 किमी लंबे तिरंगे की रैली

छत्तीसगढ़ की यूनिवर्सल हेल्थ स्कीम की गूंज दिल्ली तक, देशभर में हो सकता है लागू

Posted By: Lav Gadkari

fantasy cricket
fantasy cricket