भोपाल, नवदुनिया प्रतिनिधि, Corona pandemic in Bhopal:। परिवार का कोई सदस्य जब इस दुनिया से चला जाता है तो पूरा परिवार गमगीन हो जाता है। लेकिन एक के बाद एक सदस्‍य काल-कवलित होते हैं, तो स्‍वजन की क्‍या हालत होगी, इसकी कल्‍पना से ही मन सिहर उठता है। राजधानी भोपाल में एक परिवार के साथ नियति ने ऐसा ही क्रूर खेल खेला है। एक महिला ने इस कोरोना काल में पहले अपना पति, फिर ससुर और अब देवर को भी खो दिया। परिवार में अब कोई पुरुष नहीं बचा। पूरा परिवार बिखर गया। अकेली महिला ने पूरे परिवार का अपने कलेजे में पत्थर रखकर अंतिम संस्कार किया। शनिवार को भदभदा विश्राम घाट में कोरोना संक्रमित 34 शव, सुभाष विश्राम घाट में 17 और झदा कब्रिस्तान में 6 शव आए। जिनका कोविड गाइडलाइन के तहत अंतिम संस्कार किया गया। एक साथ शहर में 57 कोविड संक्रमित मरीजों के शव की चिता जलने वाला यह दृश्य हर किसी को झकझोर देने वाला था। इसके बावजूद सरकार द्वारा जारी आंकड़ों में भोपाल में दो ही मौत कोविड के कारण बताई जा रही है।

भदभदा विश्राम घाट में जहां जमीन समतल कर 30 नए चिता स्थल बनाने की तैयारियां चल रही है। वहीं झदा कब्रिस्तान समिति के अध्यक्ष रेहान अहमद गोल्डन ने बताया कि कब्रिस्तान में अतिरिक्त गड्ढे करके रखे जा रहे है, ताकि कोरोना संक्रमित मरीजों के शव को जल्द से जल्द सुपुर्द-ए-खाक किया जा सके। भदभदा विश्राम घाट में कुल 41 मृतक देह का अंतिम संस्कार किया गया। इसमें से 34 कोरोना संक्रमित, 17 भोपाल की और 17 बाहर के शव थे। आलम यह था कि देर रात तक शवों का अंतिम संस्कार करना पड़ा। भदभदा विश्राम घाट समिति के अध्यक्ष अरुण चौहान ने बताया कि दो दिन के अंदर यहां 30 नए चिता स्थल तैयार करने की तैयारी चल रही है।

बीते तीन दिनों में कोरोना से हुई 139 मौतें

इधर, बीते तीन दिनों में कोरोना से 139 कोरोना संक्रमित मरीजों की मौत हो चुकी है। तीन दिनों के अंदर अलग-अलग विश्राम घाट और कब्रिस्तान में इन शवों का अंतिम संस्कर किया गया है। हैरत की बात यह है कि प्रशासन बीते तीन दिनों के अंदर मात्र छह मौत होने का दावा कर रहा है, जबकि वास्तविकता में इससे कई गुना अधिक मरीजों की मौत हो चुकी है।

Posted By: Ravindra Soni

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags