भोपाल। मायके में रह रही बहन को साथ रखने से मना करने पर एक युवक ने दो साथियों के साथ मिलकर चाकू से हमला कर अपने सगे बहनोई की नृशंस हत्या कर दी। मुख्य आरोपित इलाके का हिस्ट्रशीटर बदमाश है। उसकी गिरफ्तारी पर पूर्व से पुलिस ने 5 हजार का इनाम घोषित कर रखा है।

छोला मंदिर पुलिस के मुताबिक राहुल पुत्र करन मालवीय (25) अटल अय्यूब नगर में रहता था। वह ट्रेनों में फुटकर सामान बेचन का काम करता था। करन ने करीब 4 साल पहले छोला मंदिर क्षेत्र स्थित पार्श्वनाथ कॉलोनी में रहने वाले शेखर लोधी की बहन से प्रेम विवाह किया था। लेकिन कुछ माह पहले राहुल की पत्नी से अनबन हो गई थी। इस वजह से उसकी पत्नी रक्षा बंधन पर अपने मायके में आकर रहने लगी थी। राहुल उसे लेने भी नहीं जा रहा था। इस वजह से शेखर, अपने बहनोई राहुल से खफा चल रहा था।

सरेराह शरीर पर किए चाकू के एक दर्जन वार

पुलिस के मुताबिक राहुल का एक दोस्त सचिन छोला मंदिर के पास स्थित नवजीवन कॉलोनी में रहता है। सचिन सोमवार को दीपावली मनाने राहुल के घर गया था। रात करीब 1ः15 बजे राहुल अपने दोस्त राजेश के साथ बाइक से सचिन को उसके घर छोड़ने से बाइक से निकले था। रात करीब 1ः30 बजे वे लोग कैंची छोला स्थित कैलाश होटल के सामने पहुंचे। वहां राहुल का सामना शेखर लोधी से हो गया। शेखर अपने साथी अरुण और योगेश के साथ बाइक से कहीं जा रहा था। शेखर ने राहुल को बुलाया और उसकी बहन के बारे में बात की। राहुल ने शेखर को बहन को साथ रखने से मना किया तो उनके बीच विवाद होने लगा। इस दौरान अचानक अरुण और योगेश ने राहुल के हाथ पकड़ लिए, जबकि शेखर ने चाकू से राहुल पर ताबड़तोड़ वार करना शुरू कर दिए।

इस दौरान राहुल के दोस्त राजेश ने बीच बचाव की कोशिश की तो शेखर ने उसके पेट में भी चाकू घोंप दिया। वारदात के बाद शेखर अपने साथियों के साथ मौके से फरार हो गया। गंभीर घायल हालत में राहुल और राजेश को हमीदिया अस्पताल ले जाया गया। वहां चैक करने के बाद डॉक्टर ने राहुल को मृत घोषित कर दिया। राजेश की हालत गंभीर बनी हुई है। सीएसपी निशातपुरा लोकेश सिन्हा ने बताया कि आरोपितों की तलाश में उनके हर संभावित ठिकानों पर दबिश दी जा रही है।

धनतेरस पर जेल से छूटा था राहुल

ट्रेनों में गुटखा आदि बेचकर गुजारा करने वाले राहुल के खिलाफ मारपीट के दो मामले दर्ज हैं। बताया जाता है कि उसे पिछले दिनों बीना की रेलवे पुलिस ने अवैध हथियार रखने के आरोप में गिरफ्तार कर जेल भेजा था। जमानत होने पर राहुल धनतेरस पर ही जेल से छूटकर बाहर आया था।

Posted By: Nai Dunia News Network

fantasy cricket
fantasy cricket