भोपाल। बड़े बड़े होटलों व रेस्टोरेंटों में लजीज व्यंजनों या सेव-नमकीन का मजा लेने जा रहे हैं तो, सावधान हो जाईए, क्योंकि यहां जो खाद्य समग्री परोसी जा रही है, वह कितना घटिया हो सकती है इसका खुलासा गुरुवार को संयुक्त कलेक्टर राजीव नंदन श्रीवास्तव के नेतृत्व में हुई जांच में हुआ है। खाद्य सुरक्षा अधिकारियों की टीम ने जांच में पाया कि एमपी नगर जोन-2 स्थित टेस्ट ऑफ इंडिया रेस्टोरेंट में रोटियों में जो बटर उपयोग किया जा रहा था, उसमें फंगस लगी हुई थी। रेस्टोरेंट के फ्रिज की जाली में जंक लगा हुआ था। उसी में ये फंगस वाला 5 किलो बटर रखा हुआ था, जिनके सेंपल लेकर बाकी बटर फिकवाया गया।

01 मॉल स्थित रॉ रेस्टोरेंट और बार में तो एक्सपायरी हो चुकी ब्रेड, पोहा, सोया सॉस सहित अन्य मसालों के पैकेट मिले हैं। एमपी नगर जोन-2 स्थित अमोल नमकीन के यहां गंदगी का अंबार मिला। यहां पर 10 बार यूज हो चुके पॉम ऑयल में नमकीन तला जा रहा था, तेल इतना काला हो चुका था कि अधिकारियों ने तत्काल उस तेल के सेंपल कराए तथा बचा तेल तत्काल फिकवाया।

इधर, नापतौल निरीक्षकों ने रॉर रेस्टोरेंट से 50 एमएल का मेजरमेंट ग्लास जब्त किया है, जो कि बिना सील लगा हुआ था। टेस्ट ऑफ इंडिया रेस्टोरेंट में तीन माह पुराना तौल काटा उपयोग किया जा रहा था। वहीं अमोल नमकी का तौल काटा भी वैरिफाई नहीं था। इस तरह नापतौल ने तीन तौल कांटे जब्त किए। जो मानक स्तर के नहीं थे। इधर, संयुक्त दल ने करीब 8 होटल व एमपी नगर के करीब 14 से ज्यादा फूड कार्नर, नमकीन सेंटर व किराना स्टोर की जांच की। इस दौरान 16 घरेलू एलपीजी सिलेंडर, 10 गैस भट्टी जब्त की गई। जिसकी कीमत 52000 के आसपास है।

इस संयुक्त कार्रवाई के दौरान एमपी नगर के होटल और मॉल में हड़कंप मचा रहा। नापतौल विभाग ने तीन प्रकरण तराजू इलेक्ट्रानिक तोल कांट सत्यापित नहीं होने के कारण जब्त किए। संयुक्त कार्रवाई के दौरान संयुक्त कलेक्टर वंदना जैन, जिला खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति अधिकारी ज्योतिशाह नरवरिया व खाद्य एवं औषधि प्रशासन के अफसर मौजूद थे।

यहां से जब्त किए इतने सिलेंडर

- एपी नगर जोन-2 स्थित सांई महिमा रेस्टोरेंट से तीन घरेलू सिलेंडर, दो गैस भट्टी, 2 पाईप दो रेगुलेटर

- पंडित जी टी स्टॉल से 01 घरेलू गैस सिलेंडर 01, गैस भट्टी 1, रेगूलेटर

- इंदौर फेमस उत्सव पोहा से 01 घरेलू गैस सिलेंडर, 01 गैस भट्टी, 01 पाईप, 01 रेगुलेटर

- पूनम नाश्ता घर से तीन घरेलू गैस सिलेंडर, दो गैस भट्टी, दो पाईप, दो रेगुलेटर

- केव्स कैफे से 01 घरेलू गैस सिलेंडर 01 गैस भट्टी 01 पाईप 01 रेगुलेटर

- कान्हा भोजनालय से 01 घरेलू सिलेंडर, दो गैस भट्टी , दो पाई, दो रेगुलेटर

- सिंह साहब साउथ इंडियन, चायनीज से तीन घरेलू सिलेंडर, दो गैस भट्टी, दो पाईप, दो रगुलेटर व तीन अन्य घरेलू गैस सिलेंडर

आगे क्या

खाद्य एवं औषधि प्रशासन की टीम ने जो 8 सेंपल लिए है। इनको ईदगाह स्थित लैब में जांच के लिए भेजा जाएगा। 14 दिन बाद इसकी रिपोर्ट आएगी। वहीं खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति की टीम ने जो सिलेंडर जब्त किए है उनका प्रकरण दर्ज कर आवश्यक वस्तु अधिनियम के तहत मामले को कलेक्टर कोर्ट में पेश किया जाएगा। आगे की कार्रवाई कलेक्टर कोर्ट में सुनवाई के बाद तय की जाएगी। इसी तरह नापतौल विभाग के जब्त किए गए तौल कांटो पर ढाई से पांच हजार रुपए तक का जुर्माना लगाया जाएगा।

कहीं भी मिले गड़बड़ी तो इन नंबरों पर करें कॉल

- 7587977214 वंदना जैन संयुक्त कलेक्टर

- 9424444229 संयुक्त कलेक्टर राजीव नंदन श्रीवास्तव

- 9425343014 जिला खाद्य अधिकारी ज्योतिशाह नरवरिया

यहां हुई कार्रवाई

टेस्ट ऑफ इंडिया रेस्टोरेंटः यहां पर टीम को फ्रिज में फंगस लगा 5 किलो बटर मिला, जिसे तत्काल फिकवाया गया। फ्रिज में भी गंदगी फैली थी। संयुक्त कलेक्टर ने संचालक को फटकार लगाते हुए कहा कि ऐसा खाना आप अपने बधो को खिला सकते हैं? यहां पर किचिन भी गंदा मिला। यहां से मावे ओर बटर के सेंपल लिए गए।

अमोल नमकीनः रेस्टोरेंट में चारों ओर गंदगी ही गंदगी फैली थी। मौके पर जो नमकीन बनाया जा रहा था वह 10 बार उपयोग किए गए पॉम ऑयल में बन रहा था,जबकि नियम हैं कि तीन बार से अधिक तेल का उपयोग नहीं होना चाहिए। यहां से तेल और बेसन के सेंपल लिए गए तथा संचालक को संयुक्त कलेक्टर ने जमकर फटकार लगाई। नापतौल की टीम ने यहां से अनवेरीफाईड तौलकांटा और सेव नमकीन के पैकेट पर बैच नंबर सहित अन्य डिक्लेरेशन भी नहीं था, इसके चलते भी प्रकरण बनाया गया है।

राजहंस होटलः एमपी नगर जोन-2 स्थित होटल के फ्रिज में जंग लग रही थी और पनीर भी वहीं रखा था। यहां से पनीर का सेंपल लिया गया।

केएफसी रेस्टोरेंटः एक मॉल स्थित रेस्टोरेंट में गंदगी मिली। नॉन वेज में उपयोग होने वाला सिजनिंग चिली पाउडर का सेंपल लिया गया। रेस्टोरेंट को साफ-सफाई का नोटिस दिया गया। यहां खाने में पॉम ऑयल का उपयोग होता मिला।

डोमीनोज पिज्जााः यहां से आटे के सेंपल लिए गए। यहां पर भी किचिन में गंदगी के चलते साफ-सफाई के नोटिस दिए गए।

दिल्ली दरबारः 5 से 6 बार उपयोग किए गए सोयाबीन तेल खाद्य सामग्री तली जा रही थी। सोयाबीन तेल सेंपल लेकर तेल को फिकवाया तथा साफ-सफाई का नोटिस दिया गया। इसके अलावा सब-वे रेस्टोरेंट, ची चिकन, पिज्जाा हट, सब वे वेस्टर्न में भी गंदगी देखने को मिली। हालांकि यहां से सेंपल लेने के बजाय साफ-सफाई के नोटिस दिए गए।