भोपाल (नवदुनिया प्रतिनिधि)। हबीबगंज से भोपाल के बीच तीसरी रेल लाइन में ट्रेनें चलाने की अनुमति तो आयुक्त रेल संरक्षा (सीआरएस) से मिल गई है, लेकिन अभी सिर्फ मालगाड़ियां ही इस लाइन में चलेंगी। वजह, 90 किमी/घंटा की रफ्तार से ट्रेनें चलाने की अनुमति मिली है। बाकी दो लाइनों में रफ्तार 110 किमी/घंटे है। ऐसे में मेल/एक्सप्रेस गाड़ियों को तीसरी लाइन पर चलाने से 20 किमी/घंटा का नुकसान होगा। हबीबगंज से भोपाल के बीच छह किमी की दूरी है, ऐसे में 90 किमी की रफ्तार से ट्रेन चलाने पर दो से तीन मिनट ज्यादा लगेंगे।

रेलवे के एक अधिकारी ने बताया कि ट्रायल के तौर पर करीब छह महीने तक 90 किमी की रफ्तार से ट्रेन चलाई जाएगी। इसके बाद इस पटरी पर 110 किमी प्रतिघंटा की रफ्तार से ट्रेनें दौड़ेंगी। रफ्तार बढ़ने के बाद ही मेल/एक्सप्रेस ट्रेनों का तीसरी लाइन पर चलाया जाएगा।

अभी तक यह स्थिति थी

अभी तक हबीबगंज-भोपाल के बीच दो लाइन थीं। हबीबगंज या भोपाल स्टेशन से दूसरी ट्रेन तभी रवाना की जाती है, जब एक ट्रेन सुभाष नगर फाटक के पास लगे होम सिग्नल को पार कर जाती है। दोनो लाइन में दोनों दिशाओं के लिए यही नियम अपनाया जाता है। इस कारण ट्रेनों को भोपाल या हबीबंज स्टेशन के बीच या तो धीमी रफ्तार से चलाना पड़ता है या फिर उन्हें आउटर पर रोकना पड़ता है। तीसरी लाइन में 110 किमी की रफ्तार से ट्रेन चलाने की अनुमति मिलने के बाद यह समस्या कम हो जाएगी। इस रूट पर नई ट्रेनें चलाने को भी रेलवे बोर्ड से आसानी से मंजूरी मिल सकेगी। बता दें कि बीना से भोपाल स्टेशन के बीच तीसरी लाइन साल भर पहले ही तैयार हो चुकी है।

Posted By: Ravindra Soni

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस