भोपाल(नवदुनिया प्रतिनिधि)। केंद्र सरकार द्वारा लाए गए नए कृषि कानूनों के विरोध में चले रहे किसानों के आंदोलन के समर्थन में सामाजिक संगठन भी उतर आए हैं। सोमवार को राजधानी भोपाल में स्थि‍त गांधी भवन में अन्‍नदाता के लिए अन्‍न-त्याग करते हुए कई लोग उपवास पर बैठे हुए हैं। किसानों के समर्थन में एक दिन का उपवास करने वाले एकता परिषद के पदाधिकारियों का कहना है कि आज देश-प्रदेश में किसानों के हालात सुधरने के नाम ले रहे। केंद्र सरकार ने नए कृषि कानून लाकर किसानों की मुसीबतें और बढ़ा दी हैं। पूरे देश में नौजवान साथियों के अलावा बुजुर्ग व महिलाएं भी उपवास पर बैठी हैं। हम सब लोग आज सुबह सात बजे से उपवास पर इसलिए बैठे कि किसानों को समस्या है। देश की ताकत किसान ही हैं। आज हम लोग शहरों में नौकरी व व्यवसाय करा पा रहे हैं, उसमें कहीं न कहीं किसानों का योगदान रहा है।

पहले हर किसान के पास पांच से छह एकड़ या इससे अधिक जमीन हुआ करती थी। शहरीकरण से किसानों की जमीनें कम हो गईं। मंगलवार को भारत बंद का समर्थन करेंगे। व्यवसायी, नौकरीपेशा सहित सभी वर्ग के लोगों को चाहिए कि किसानों का समर्थन करें। किसानों के आंदोलन में साथ दें। यदि किसानों की समस्याएं खत्म नहीं हुईं तो देश में हम सब लोगों का अस्तित्व ही खत्म हो जाएगा। अन्‍नदाताओं की समस्याओं का समझें। व्यवसायी भी अपना मुनाफा न देखें, क्योंकि उनके व्यवसाय बिना किसानों के नहीं चल सकता। देश व प्रदेश में किसान अन्‍न ही पैदा नहीं करेंगे, तो देश आर्थिक उन्नति नहीं कर सकेगा।

Posted By: Ravindra Soni

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

NaiDunia Local
NaiDunia Local
 
Show More Tags