दो दिवसीय अनुवाद विमर्श का आयोजन

भोपाल(नवदुनिया रिपोर्टर)। हिंदी साहित्य सम्मेलन के आमंत्रण पर देश भर के अनुवादक भोपाल में जुटे। दो दिवसीय अनुवाद विमर्श पहले दिन स्वराज सभागार और दूसरे दिन मायाराम सुरजन भवन में आयोजित हुआ। इस विमर्श में केरल,बंगाल, महाराष्ट्र,मध्य प्रदेश,दिल्ली,ओडिशा से आए प्रतिभागी रचनाकारों ने कई भाषाओं का रचना पाठ भी किया। साहित्य सम्मेलन के अध्यक्ष ने आभार व्यक्त किया। हिंदी साहित्य सम्मेलन के अध्यक्ष पलाश सुरजन ने कहा कि पहली बार ऐसा अभिनव कार्यक्रम हुआ है। अब तक अनुवाद विधा को उतना महत्व नहीं दिया गया है,जबकि यह किसी संस्कृति को अन्य भाषा-भाषियों और विशाल पाठक वर्ग तक पहुंचने का माध्यम है। श्री सुरजन ने कहा कि मप्र हिंदी साहित्य सम्मेलन की तरफ से अनुवाद पर केंद्रित प्रकाशन पर विचार करेंगे।

जो अनुवादक भोपाल आए उनमें अधिकांश 20-30 साल से यह सृजन कर रहे हैं। समापन के मौके पर कवि मणि मोहन अनूदित पुस्तक बीजाची प्रार्थना का विमोचन हुआ।जिन अनुवादकों ने रचनाएं पढ़ीं उनमें राग तैलंग, सारिका ठाकुर,उत्पल बैनर्जी,मालिनी गौतम संतोष एलेक्स,सुनिता डागा, अनवारे इस्लाम,अशोक मनवानी, रश्मि रमानी, भरत यादव, सुभाष नीरव, बलवंत और मीता दास शामिल थे।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

जीतेगा भारत हारेगा कोरोना
जीतेगा भारत हारेगा कोरोना