भोपाल, नवदुनिया प्रतिनिधि। शहर में विवाहों के लग्न मुहूर्त शुक्रवार से शुरू हो रहे हैं। इस बार लगन में दो हजार से ज्यादा शादियों में बैंड बाजा गूंजने की उम्मीद है। इसको लेकर शहर और आसपास के सभी मैरिज गार्डन, होटल चुके हैं। पंडित रामजीवन दुबे ने बातया कि विवाह मुहूर्तों के लिए गुरु और शुक्र का उदित होना जरूरी माना गया है। अब तक शुक्र अस्त के कारण विवाह मुहूर्त शुरू नहीं हो पाए थे। अब शुक्र तारा उदित हो चुका है, इसके बाद 25 नवंबर से शहनाई की गूंज सुनाई देने लगेंगी। इस साल नवंबर में तीन दिन तो दिसंबर में छह दिन लग्न मुहूर्त रहेंगे। इस बार की लगन पर कोरोना का साया नहीं रहेगा। लोगों में उत्साह भी दिख रहा है। 25 नवंबर को सीजन का पहला शुभ मुहूर्त पड़ रहा है, इसलिए जिले में तमाम शादियां होंगी। इसको लेकर लड़का और लड़की पक्ष वालों ने लगभग सभी तैयारियां पूरी कर ली हैं। वहीं मैरिज गार्डन, होटल, सामुदायिक भवन भी सज-धजकर तैयार हैं। शुक्रवार, शनिवार, रविवार को मांगलिक मुहूर्त होने से विवाह होंगे। वर्ष 2023 में 89 दिन विवाह समारोह की शुभ तिथियां रहेंगी! नववर्ष में वर्षों बाद महाशिवरात्रि पर भी शादियों का शुभ संयोग बना है।

गुरु व शुक्र अस्त होने पर इसलिए नहीं किए जाते शुभ काम : तारा डूबने का अर्थ तारा के अस्त हो जाने से होता है। जैसे सूर्य का उदय और अस्त होना। खगोल के अनुसार सूर्य पृथ्वी के सबसे नजदीक का तारा है जो अपने ही प्रकाश से चमकता है। अन्य ग्रह सूर्य के प्रकाश ही प्रकाशित होते हैं। वैदिक ज्योतिष में गुरु एवं शुक्र ग्रह को तारा माना गया है। इनके अस्त हो जाने पर भारतीय ज्योतिष शास्त्र किसी भी प्राणी को शुभकार्य की अनुमति नहीं देता। बृहस्पति ग्रह को संपन्नता, विवाह, वैभव, विवेक, धार्मिक कार्य आदि का कारक माना जाता है। इसलिए इनका अस्त होना शुभ नहीं होता। शुक्र अस्त होने से उससे मिलने वाली सुख-समृद्धि से लोग वंचित रह जाते हैं। गुरु व शुक्र ग्रह जब अस्त होते हैं तब शुभ-मांगलिक कार्यों को करने की भी मनाही होती है।

2022 में विवाह मुहूर्त

नवंबर 25, 26 और 27

दिसंबर- दो, तीन, चार, सात, आठ और 15

वर्ष 2023 में विवाह मुहूर्त

जनवरी- 17, 18, 19, 22, 25 से 27 ,30 31

फरवरी - एक, छह से 17, 22, 23

मार्च- पांच से 14

अप्रैल - विवाह मुहूर्त नहीं

मई - दो, तीन, चार, छह, सात, आठ,11, 15, 16, 20, 21, 26, 27, 28, 29, 30

जून - एक, तीन, चार, पांच, सात, 11 ,12, 13 ,16 ,17, 22, 23, 24, 25, 26, 27

नवंबर- 23, 24, 27, 28, 29

दिसंबर- तीन, चार, पांच, छह, सात, नौ, 11, 13, 14, 15

Posted By: Ravindra Soni

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close