भोपाल। अयोध्या मामले को लेकर जब सुप्रीम कोर्ट द्वारा फैसला सुनाया जा रहा था तब तक मध्यप्रदेश के इंदौर, भोपाल, ग्वालियर और जबलपुर सहित सभी शहरों में सड़कों पर सन्नाटा पसर गया था। फैसला आने के बाद वहीं तस्वीर सामने आई जो हमेशा से मध्यप्रदेश की रही है। हिंदू हो या मुस्लिम सभी पक्षों ने इसका सम्मान किया। कुछ ही समय में प्रदेश के विभिन्न इलाकों से हिंदू और मुस्लिम भाइयों द्वारा एक दूसरे के गले मिलने और मिठाई खिलाने की तस्वीर समाने आई। जगह-जगह पुलिसकर्मी तैनात हैं और एहतियातन कई जगह दुकानें बंद कर दी गईं हैं। सुप्रीम कोर्ट के फैसले के मद्देनजर मुख्यमंत्री कमलनाथ ने प्रदेश की जनता से अपील की है कि जो भी फैसला आया है सभी मिल-जुलकर उसका सम्मान करें। उन्होंने कहा कि प्रदेश की गंगा-जमुनी की संस्कृति के अनुरूप हम सभी को अपना भाईचारा कायम रखते हुए आपसी सौहार्द व सद्भाव कायम रखना है। हर हाल में अमन-चैन व शांति कायम रखना है। मध्यप्रदेश के जिलों में धारा 144 लागू है और सुरक्षा के लिए एक लाख से ज्यादा पुलिसकर्मी पूरे प्रदेश में तैनात हैं।

- सिख समाज ने निरस्त किया नगर कीर्तन : इंदौर में 10 नवंबर को निकलने वाला सिख समाज का नगर कीर्तन स्थतिग कर दिया गया है। इसके पहले सीए कमलनाथ भी इस कार्यक्रम में शामिल होने वाले थे, लेकिन उनका कार्यक्रम भी स्थगित हो गया। उधर भोपाल में आज ही शहजानाबाद से दोपहर 1:30 बजे आरंभ होने वाला था, जिसे कैंसल कर दिया गया है। वहीं सागर में निकलने वाले नगर कीर्तन को भी सुरक्षा की दृष्टि से प्रशासन के आग्रह पर सिख समाज ने स्थगित कर दिया है।

- भिंड में कानून व्यवस्था की ड्यूटी से नदारत रहने पर निरीक्षक रेखा पाल को निलंबित कर दिया गया है। एसपी रुडोल्फ अल्वारेस ने कार्रवाई के निर्देश दिए हैं। निरीक्षक पिछले 2 दिन से ड्यूटी से नदारत हैं। रतलाम के ग्राम बाजना में कानून व्यवस्था बनाएं रखने के लिए तहसीलदार बीएस ठाकुर, थाना प्रभारी एस मंडलोई द्वारा दल-बल के साथ मार्च पास्ट कर अमन व शांति व्यवस्था बनाएं रखने की अपील की। मध्यप्रदेश हाईकोर्ट जबलपुर में अधिवक्ता प्रियंका मिश्रा ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट ने एकरूपतापूर्वक फैसला सुनाया है, जो एतिहासिक है। धर्मनिरपेक्षता की संवैधानिक भावना का पूरा ख्याल रखा गया। सभी पक्ष इसका स्वागत करें।

- भिंड जिले में अलग-अलग क्षेत्र में सोशल मीडिया पर भ्रामक पोस्ट करने वाले पांच लोगों पर कार्रवाई की गई है। उधर खरगोन जिले में आतिशबाजी कर रहे दो युवकों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है।

- इंदौर शहर में हर थाना क्षेत्र में एक टीआई के साथ एक तहसीलदार तैनात है। एसडीएम और एडीएम भी पेट्रोलिंग कर रहे हैं। संवेदनशील इलाकों खजराना, आजाद नगर, मूसाखेड़ी, बंबई बाजार, चंदन नगर जैसे इलाकों में एडीएम ने कमान संभाल रखी है। अभी सभी जगह शांति हैं। धार 144 को लेकर लगातार माइक पर अधिकारी ऐलान कर रहे हैं कि लोग भीड़ बनाकर खड़े ना हों। जबलपुर में पुलिस अधीक्षक ने निर्देश दिए हैं कि न पटाखे फूटेंगे और ना जुलूस निकलेगा। जिस क्षेत्र से पटाखों की आवाज आई थाना प्रभारी उसके जिम्मेदार होंगे। जबलपुर के बाबाटोला में ड्यूटी पर तैनात 4 पुलिसकर्मी सस्पेंड हो गए। एसपी क्षेत्र में जायजा लेने निकले थे तो वे जवान मोबाइल पर गेम खेल रहे थे। चारों को मौके पर ही निलंबित कर दिया गया।

- भोपाल में प्रभात पेट्रोल पंप, अशोका गार्डन सहित आधा दर्जन क्षेत्र में सभी दुकानें बंद है। आधी शटर खोलकर सामान दिया जा रहा है। शहर के चौराहों पर पुलिस तैनात है। भोपाल में अवधपुरी, गांधी मार्केट, भोल क्वार्टर क्षेत्र पूरा बंद है। पुलिस यहां दुकानों को बंद करवा रही है। दूध किराना जैसे दैनिक उपयोग की चीजें आसानी से नहीं मिल रहीं हैं। हर चौराहे पर एक दर्जन से ज्यादा पुलिकर्मी तैनात हैं। लो फ्लोर बसें और मैजिक भी बंद है।

- मध्यप्रदेश के इंदौर, भोपाल, खंडवा, जबलपुर, ग्वालियर में सब्जी मंडी और दुकानों में सामान खरीदने के लिए लोगों की भीड़ उमड़ रही है।

- भोपाल कलेक्टर तरुण पिथोड़े ने कहा कि शहर में हमने सभी चीजों की व्यवस्था की है। पुलिस और प्रशासन का सहयोग करें।

- आज किसी भी टीवी डिबेट में मध्यप्रदेश कांग्रेस के नेता हिस्सा नहीं लेंगे। उधर सीएम कमलनाथ का आज मंडला-जबलपुर का दौरा निरस्त कर दिया गया है। अयोध्या मामले पर फैसले के चलते भोपाल में कानून व्यवस्था को लेकर अधिकारियों के साथ बैठक करेंगे और तैयारियों की समीक्षा करेंगे।

- भोपाल में एडीजी आदर्श कटियार ने कहा कि शहर में शनिवार सुबह से ही पुलिस जगह-जगह तैनात है। लोगों को भरोसा दिया जाता है कि पुलिस उनके साथ है। चारों तरफ पुलिस तैनात है। पुलिस ने अपनी पूरी एक्साइज कर चुकी है। किसी प्रकार की कोई परेशानी नहीं है।

- मध्यप्रदेश में मुख्य सचिव एसआर मोहंती ने दिए आदेश- 9,10 और 11 अक्टूबर को विशेष परिस्थितियों में अधिकारी अपने वाहनों पर पीली बत्ती का इस्तेमाल कर पाएंगे।

पढ़ें - Ayodhya Verdict 2019 : SC का बड़ा फैसला- विवादित जगह पर रहेंगे रामलला 'विराजमान', मुस्लिम पक्ष को मस्जिद के लिए दूसरी जमीन

पढ़ें - Ayodhya Verdict 2019 : अयोध्या पर आने वाला है सुप्रीम फैसला, जानें अब तक की बड़ी बातें

- मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ ने ट्वीट कर कहा है कि अयोध्या मामले पर आने वाले सुप्रीम कोर्ट के फैसले के मद्देनज़र मैं प्रदेश की जनता से अमन-चैन, शांति व सद्भावना की अपील करता हूं। हर वर्ग से अपील करता हूं कि जो भी फैसला आए, सभी मिलजुलकर उसका सम्मान व आदर करें। प्रदेश की गंगा-जमुनी की संस्कृति के अनुरूप हम सभी को अपना भाईचारा कायम रखते हुए हमारा आपसी सोहाद्र व सद्भाव कायम रखना है। किसी भी प्रकार की अफवाहों से सावधान व सजग रहें। कानून व्यवस्था के पालन में सभी सहयोग करें।

- मध्यप्रदेश के पूर्व सीएम और भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि हम सभी प्रदेशवासियों से अपील करते हैं कि भगवान श्रीराम की जन्मभूमि के बारे में माननीय सर्वोच्च न्यायालय का फैसला आने वाला है, फैसला जो भी आये। समाज का हर वर्ग उसे स्वीकार करे। उस फैसले का सम्मान करें। हम सब मिलकर प्रदेश में शांति, सद्भाव, स्नेह, आत्मीयता बनी रहे, इसका प्रयास करें। मेरी भाजपा समेत सभी राजनीतिक दलों के कार्यकर्ताओं, सामाजिक व धार्मिक संगठनों तथा स्वयंसेवी संस्थाओं के सदस्यों से अपील है कि देश में सामाजिक सौहार्द्र कायम रखने में अपना योगदान दें।

- जमीयत-ए-उलेमा के अध्यक्ष हाजी मोहम्मद हारुन ने कहा कि अयोध्या मामले में आज सुप्रीम कोर्ट जो भी फैसला आएगा हम सभी उसे स्वीकार करेंगे। भारत में हिंदू- मुस्लिम एकता कूट-कूटकर भरी हुई है। हमारे देश में मिली जुली तहजीब है। यहां सारे मजहब के लोग और सभी परंपराएं है और यह हमेशा रहेंगी।

डीजीपी बोले- फैसले को लेकर हमारी पूरी तैयारी : पुलिस महानिदेशक विजय कुमार सिंह ने बताया कि अयोध्या फैसले पर हमारी पूरी नजर है। पुलिस पूरी तरह अलर्ट पर है। सभी बदमाशों की सूचियां तैयार है। एहतियातन कार्रवाई की गई है। संवेदनशील स्थानों की सूची बना ली गई है। सभी जिलों को आवश्यकतानुसार पुलिस बल उपलब्ध कराया गया है। सोशल मीडिया पर पूरी तरह नजर रखी जा रही है। वाट्सएप ग्रुप पर भी लगातार नजरें हैं।

इंदौर में अलर्ट : धारा 144 सख्ती से लागू, राजबाड़ा नो व्हीकल जोन

शांति बनाने रखने के लिए पुलिस ने देर रात बैठक लेकर खास इंतजाम किए। जनता को व्यवस्था में सहयोग देने के उद्देश्य के भी निर्देश जारी किए हैं।

- सोशल मीडिया पर आपत्तिजनक संदेश व झूठी अफवाह ना फैलाएं। ऐसे वीडियो-फोटो शेयर ना करें। - इंदौर के राजवाड़ा में नो व्हीकल जोन लागू।

- जिला प्रशासन ने शहरभर में धारा 144 लागू की है। इसके चलते जुलूस, रैली और प्रदर्शन करने की मनाही है।

- वाट्सएप ग्रुपों सहित सोशल मीडिया पर पुलिस निगरानी कर रही है। इंटरनेट यूजर्स भ्रामक संदेश वायरल ना करें।

- अयोध्या फैसले से जुड़ी किसी भी प्रकार की सूचना देने के लिए पुलिस ने हेल्पलाइन नंबर जारी किए हैं। ये नंबर - 7049124445 और 7049124444 हैं।

जबलपुर में भी अलर्ट पर प्रशासन और पुलिस : पुलिस प्रशासन के निर्देश पर सभी थाना क्षेत्रों की पुलिस ने सुबह से शहरभर में गश्त कर रही है। सभी संवेदनशील क्षेत्रों में शांति-व्यवस्था कायम रखने विशेष एहतिायत बरते जाने के निर्देश दिए गए हैं। सभी धर्मों के धर्माचार्यों ने अपने-अपने धर्मावलंबियों से संयम बरतने की अपील की है। सोशल मीडिया का दुरुपयोग न करने पर बल दिया गया है। अफवाहों से सावधान रहने की हिदायत दी गई है। हाईकोर्ट व जिला अदालत सहित सभी महत्वपूर्ण शासकीय इमारतों की सुरक्षा बढ़ा दी गई है। रेलवे स्टेशन-बस स्टैंड सहित अन्य सार्वजनिक आवाजाही वाली जगहों पर पुलिस की पैनी नजर है।

Posted By: Prashant Pandey