भोपाल, नवदुनिया प्रतिनिधि। लगातार दो दिन तक बाजार बंद रहने के बाद सोमवार को आखिरकार लॉकडाउन की अवधि पूरी हुई और कोलार-शाहपुरा को छोड़कर भोपाल शहर के अन्‍य बाजारों के साथ संत हिरदाराम नगर का बाजार भी खुल गया। बाजार खुलने से व्यापारियों के चेहरे खिल उठे, लेकिन बाजार में रौनक का अभाव साफ नजर आया। कपड़ा, बर्तन और सराफा बाजार में अक्सर रहने वाली रौनक नहीं थी।

संत हिरदाराम नगर में प्रदेश की प्रमुख कपड़ा मंडी है। बर्तन का भी थोक कारोबार होता है पिछले कुछ समय से कपड़ा व्यापारी लॉकडाउन को लेकर चिंतित थे। व्यापारियों की सबसे बड़ी चिंता यह थी कि लॉकडाउन लंबा न लग जाए, लेकिन प्रशासन ने दो दिन बाद आखिर दुकान खोलने की अनुमति दे दी। सोमवार को सुबह जल्दी दुकानें खुल गईं। व्यापारियों ने दुकानों की सफाई करने के बाद कारोबार शुरू किया, लेकिन उम्मीद के अनुसार ग्राहकी नहीं नहीं दिखी।

कपड़ा व्यापारी संघ के पूर्व अध्यक्ष वासुदेव वाधवानी का कहना है कि रिटेलर बाजार तक नहीं आ रहे हैं। आसपास की मंडियों से यहां खरीदी करने आने वाले व्यापारियों को संक्रमण और लॉकडाउन का खतरा सता रहा है। इस कारण वे खरीदी नहीं कर रहे हैं। कुछ व्यापारियों ने फोन पर ही ऑर्डर दिए हैं, जिसकी आपूर्ति की जा रही है। यही हाल बर्तन बाजार का है। यहां भी अपेक्षित ग्राहकी का अभाव बना हुआ है

सर्राफा बाजार में भी नहीं है रौनक

सर्राफा बाजार में भी इस बार अपेक्षित ग्राहक नहीं आ रहे। व्यापारियों का कहना है कि मांगलिक आयोजन पर रोक होने के कारण बाजार में रौनक नहीं है। व्यापारियों को उम्मीद है कि 21 अप्रैल से शुरू हो रहे विवाह मुहूर्त के दौरान इनकी खरीदी अच्छी हो सकती है। इस समय सोने के भाव भी काफी कम हैं, लेकिन उस हिसाब से ग्राहकी नहीं है। व्यापारियों को स्थिति सामान्य होने का इंतजार है।

Posted By: Ravindra Soni

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

NaiDunia Local
NaiDunia Local
 
Show More Tags