भोपाल। दीपावली से पहले वन विहार नेशनल पार्क के बारहसिंगा के कुनबे में दो नए शावक दिखाई दिए हैं। ये नर हैं या मादा, इसकी पहचान अभी नहीं हुई है, लेकिन पार्क में कुनबा 14 से बढ़कर 16 का हो गया है। नए मेहमानों के दिखाई देने से पार्क में खुशी का माहौल है। ये संकटग्रस्त हार्ड ग्राउंड प्रजापति के बारहसिंगा हैं।

विश्वभर में यह प्रजाति प्राकृतिक रूप से केवल कान्हा टाइगर रिजर्व में पाई जाती है। इस प्रजाति पर साल 1970 के दशक में संकट आ गया था, तब इनकी संख्या 66 के करीब बची थी। इस बात से सबक लेते हुए इन्हें वन विहार नेशनल पार्क और फिर सतपुड़ा टाइगर रिजर्व में बसाया गया है जहां इनका कुनबा लगातार बढ़ रहा है।

साल 2015 में सिर्फ 7 बारहसिंगा लाए गए थे

कान्हा रिजर्व से साल 2015 में 7 बारहसिंगा वन विहार नेशनल पार्क में शिफ्ट किए गए थे। इनमें तीन नर व चार मादा थे। इस तरह राजधानी का वन विहार नेशनल पार्क हार्ड ग्राउंड प्रजाति के बारहसिंगा के लिए प्रदेश का तीसरा अनुकूल रहवास स्थल बना था। यहां तीन साल में बाहरसिंगा का कुनबा 7 से बढ़कर 15 का हो गया था। हाल ही में एक बारहसिंगा की मौत हो गई थी। 14 बारहसिंगा बचे थे।


इन्हीं के बीच दो नए शावक दिखाई दे रहे हैं। पार्क के डिप्टी डायरेक्टर अशोक कुमार जैन ने बताया कि इन्हें विशेष प्रबंधन के तहत रखा जा रहा है। इनके लिए अलग बाड़ा बनाया गया है। इसमें स्थित तालाब में हमेशा पानी रहता है। चौबीस घंटे निगरानी करते हैं। सुबह व शाम दो बार इनकी गिनती होती है।

दो शावक दिखे

बारहसिंगा के कुनबे में दो नए शावक दिखाई दिए हैं। इसकी पुष्टि हो गई है। कुनबा बढ़ने से पार्क में खुशी का माहौल है।

- कमोलिका मोहंता, डायरेक्टर वन विहार नेशनल पार्क

Posted By: Hemant Upadhyay