भोपाल, नवदुनिया प्रतिनिधि। राजधानी के गोविंदपुरा इलाके में स्थित भेल कारखाने में यूनियनों के चुनाव आज संपन्‍न होंगे। इसके लिए मतदान प्रक्रिया सुबह आठ बजे से शुरू, जो शाम पांच बजे तक चलेगी। सुबह 11 बजे तक 50 प्रतिशत मतदान हो चुका है। देर रात तक चुनाव के परिणाम आएंगे। इस बार 2800 भेल कर्मचारी अपने मत पत्रों का प्रयोग करके तीन प्रतिनिधि यूनियनों को चुनेंगे। भेल प्रबंधन ने चुनाव कराने की व्यवस्था कर ली है। इसके लिए भेल कारखाने में कुल 10 पोलिंग बूथ बनाए गए हैं। इनमें नौ पोलिंग बूथ भेल कारखाने में रहेंगे। एक बूथ भेल नगर प्रशासक कार्यालय में बनाया गया है। मतदान प्रक्रिया भेल प्रबंधन व केंद्रीय सुरक्षा बल की देखरेख में चल रही है।

बता दें कि साल 2016 में भेल यूनियन के चुनाव हुए थे। उस समय 3500 कर्मचारियों ने मतदान किया था। छह सालों में 700 कर्मचारी सेवानिवृत हो गए। इससे मतदाता कम हो गए। पिछले चुनाव में पहले स्थान पर राष्ट्रीय मजदूर कांग्रेस (इंटक), दूसरे पर आल इंडिया भेल एम्प्लाई यूनियन (एबु) और तीसरे स्थान पर भारतीय मजदूर संघ (बीएमएस) प्रतिनिधि यूनियन रही थीं। इस बार इन तीन यूनियनों के साथ ही भारत हेवी इलेक्ट्रिकल्स कामगार ट्रेड यूनियन (सीटू) और हेवी इलेक्ट्रिकल्स श्रमिक ट्रेड यूनियन (एचएमएस), कर्मचारी ट्रेड यूनियन (केटीयू), उत्कृष्ट मजदूर संघ (यूएमएस) ने भी चुनाव प्रचार में पसीना बहाया है। चुनाव के मैदान में उतरी सभी यूनियनों ने अपनी-अपनी जीत के दावे किए हैं।

मतदान के एक दिन पहले भारतीय राष्ट्रीय मजदूर कांग्रेस के प्रदेशाध्यक्ष राजेश अहिरवार ने सीटू को अपना समर्थन दिया। पिपलानी स्थित सीटू के कार्यालय में अहिरवार पहुंचे और चुनाव में सीटू को समर्थन देने का ऐलान किया। इस मौके पर दीपक गुप्ता, रंजीत, निशांत नंदा सहित बड़ी संख्या में भेल कर्मचारी मौजूद रहे। इधर एबु, बीएमएस, एचएमएस ने भी अपनी-अपनी जीत के दावे किए हैं। एचएमएस के प्रमुख अमर सिंह राठौर ने बताया कि रैली में 500 से अधिक भेल कर्मचारी शामिल हुए। उम्मीद है कि कर्मचारी हम पर भरोसा करेंगे। वहीं इंटक के राहुल त्रिपाठी ने कहा कि भेल कर्मचारियों हमें मतदान करेंगे। हम अपने एक नंबर स्थान पर बने रहेंगे। वहीं बीएमएस व एबु ने भी जीत के दावे किए हैं।

Posted By: Ravindra Soni

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close