Bhopal Arts and Culture: भोपाल(नवदुनिया प्रतिनिधि)। किसी ने हाथ में कूची थामकर संग्रहालय की गैलरी को उकेरा तो किसी ने कैनवास पर सभागार को आकार दिया। प्रदेश भर के आए 56 युवा चित्रकारों ने पांच दिन की गतिविधि में करीब दौ सौ चित्र बनाए हैं, जिनकी प्रदर्शनी मध्यप्रदेश जनजातीय संग्रहालय के स्थापना दिवस पर (छह जून) लगाई जाएगी।

अंतरराष्ट्रीय संग्रहालय दिवस के अवसर पर मप्र जनजातीय संग्रहालय द्वारा 18 से 22 मई तक आयोजित जलरंग शैली पर एकाग्र चित्र शिविर सह-प्रशिक्षण गतिविधि का समापन रविवार को हुआ। समापन दिवस पर आयोजित कार्यक्रम में जनजातीय लोक कला एवं बोली विकास अकादमी के उप निदेशक अनिल कुमार, वरिष्ठ चित्रकार एलएन भावसार, ख्यात चित्रकार रामचंद्र शिवाजी खरतमल एवं कुडलय्या महांतय्या हिरेमठ पुणे एवं अन्य अधिकारी मौजूद रहे। शिविर में विगत वर्षों में आयोजित चित्रांकन प्रतियोगिता के प्रत्येक आयु वर्ग के प्रथम, द्वितीय और तृतीय पुरस्कार विजेता बच्चों के साथ- साथ नूतन महाविद्यालय, हमीदिया महाविद्यालय, गीतांजलि एवं एमएलबी महाविद्यालय और संस्कृति संचालनालय द्वारा खंडवा, इंदौर, ग्वालियर, जबलपुर में संचालित कला महाविद्यालयों के चयनित विद्यार्थियों ने सहभागिता कर जलरंग शैली की तकनीकी पक्ष के साथ जलरंग शैली माध्यम की बारिकियों को जाना। शिविर का विषय 'जनजातीय संग्रहालय: बिम्ब का प्रतिबिम्ब" था, जिसे वाटर कलर के माध्यम से प्रतिभागियों द्वारा चित्रित किया गया।श्ािविर में करीब दो सौ चित्र बनाए गए हैं। शिविर में हिस्सा ले रहे प्रतिभागियों ने संग्रहालय का भ्रमण करते हुए यहां के वातावरण और परिदृश्य को भी चित्रित किया। इस अवसर पर अकादमी द्वारा सभी प्रतिभागियों एवं अतिथि चित्रकारों का धन्यवाद प्रकट किया गया।

मानव संग्रहालय में वाल म्यूरल और फेस पोर्ट्रेट क्ले वर्कशाप 23 से

भोपाल। इंदिरा गांधी राष्ट्रीय मानव संग्रहालय, भोपाल में वाल म्यूरल और फेस पोर्ट्रेट पर द्वितीय क्ले-वर्कशाप सोमवार सुबह 11बजे से प्रारंभ हो हो रही है। इस 30 दिवसीय प्रशिक्षण कार्यशाला में प्रतिभागिता करने की फीस रुपए 1500 है। इस कार्यशाला में रबर मोल्डिंग और प्लास्टर कास्टिंग भी सिखाया जाएगा, सीखने के दौरान उपयोग में आने वाले समान का भुगतान अलग से करना होगा। मानव संग्रहालय के माड्यूलर के शेषाद्री के मार्गदर्शन में मिट्टी की नक्काशी और उत्कीर्णन तकनीक और क्ले माडलिंग में मिट्टी को आकर्षक आकृतियों में ढालने और उनकी कल्पनाशील क्षमता के बारे में प्रतिभागियों को बताया जाएगा। पंजीयन आदि से संबंधित जानकारी के लिए के शेषाद्री से मोबाइल नंबर- 9009630968 पर संपर्क कर सकते हैं।

Posted By: Lalit Katariya

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close