भोपाल (नवदुनिया प्रतिनिधि)। कोरोना संक्रमण के तनाव से जूझ रहे बच्चों के लिए बाल अधिकार संरक्षण आयोग ने नई पहल शुरू करते हुए संवेदना नाम से नि:शुल्क टोल फ्री सेवा शुरू की है। जिसका नंबर 18001212830 है। इस नंबर पर कॉल करके बच्चे व उनके अभिभावक बच्चों के लिए सलाह ले सकते हैं।

कोरोना संक्रमण दौरान 18 वर्ष से कम उम्र के बच्चों के मानसिक स्वास्थ्य पर गहरा असर पड़ा है। ऐसे बच्चे टोल फ्री नम्बर पर सुबह 10 से 1 बजे तक और दोपहर 3 से रात्रि 8 बजे तक सोमवार से शनिवार तक अपनी समस्याओं पर विषय विशेषज्ञों, काउंसलर से बात कर सकते हैं।

सर्दी, जुखाम, खांसी, बुखार आने पर कराएं इलाज

ब्लड प्रेशर, डायबिटीज किड़नी, अस्थमा, कैंसर आदि बीमारियों से पीडि़त कोरोना से बचाव के लिये पूरी तरह सावधानियां बरतें। ऐसे लोग हमेशा मास्क लगाकर रखें। भीड़-भाड़ में न जाएं, आपस में दो गज की दूरी बनाकर रखें। हाथों को धोते रहे, सैनिटाइजर का उपयोग करते रहें।

यह सलाह मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी ने दी है। किसी भी व्यक्ति को सर्दी, जुखाम, खांसी, बुखार, सांस लेने में तकलीफ, सिरदर्द, भूख न लगना, दस्त लगना आदि के लक्षण होने पर वे घर पर ही पारंपरिक उपचार लेते रहते है। ठीक होने की उम्मीद में 5 से 7 दिन गुजार देते है, जिन्हे स्वास्थ्य लाभ होने के बजाय उनकी बीमारी और बढ़कर जटिल हो जाती है। ऐसे लोंगो को अस्पताल में भर्ती करना पड़ता है। ऐसी स्थिति में कोरोना जांच पॉजीटिव आती है तो उपचार और जटिल हो जाता है। ऐसे मरीजों को ऑक्सीजन सपोर्ट या आईसीयू में भर्ती कर उपचार करना पड़ता है। ऐसी बीमारियों से प्रभावित व्यक्तियों को सर्दी, खांसी, बुखार और सांस लेने में तकलीफ, सिरदर्द, हाथ-पैरों में दर्द, शरीर में ऐठन, भूख न लगना खाने व सूघंने में स्वाद का पता न लगना आदि लक्षण दिखाई देते ही इलाज कराना चाहिए। कोरोना की जांच भी करानी चाहिए।

Posted By: Lalit Katariya

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

NaiDunia Local
NaiDunia Local
 
Show More Tags