Bhopal Crime News : भाेपाल (नवदुनिया प्रतिनिधि)। एमपी नगर स्थित कार्यालय से शुक्रवार शाम पैदल अपने घर जाने निकले 24 वर्षीय साफ्टवेयर डेवलपर का शव शनिवार सुबह सुभाष नगर में रेल पटरी से बरामद हुआ। शव के पास ही उसका माेबाइल फाेन एवं ईयर फाेन पड़े थे। प्रारंभिक जांच के बाद पुलिस ने आशंका जताई है युवक ईयर फाेन के जरिए बात करते हुए पटरी पार कर रहा हाेगा, ट्रेन की आवाज नहीं सुनाई पड़ने पर वह हादसे का शिकार हाे गया। जिस स्थान पर उसका शव मिला, उससे आगे माेड़ है। इस वजह से तेज रफ्तार से आती हुई ट्रेन भी स्पष्ट नहीं दिखाई देती है। इससे पहले भी इस स्थान पर हादसे हाे चुके हैं।

एमपी नगर थाना पुलिस के मुताबिक मूलत: सागर निवासी घनश्याम पुत्र रघुवीर पटेल, सुभाष नगर में किराए के कमरे में रहता था। वह एमपी नगर के एक व्यावसायिक काम्प्लेक्स में स्थित एमपी आनलाइन में साफ्टवेयर डेवलपर था। वह राेज पैदल आफिस आता–जाता था। शुक्रवार शाम काे सात बजे वह आफिस से घर जाने के लिए पैदल निकला था, लेकिन घर नहीं पहुंचा। रात काे उसके बड़े भाई ने भी फाेन लगाया था, लेकिन घनश्याम ने फाेन नहीं उठाया था। शनिवार सुबह जब घनश्याम का फाेन बंद आने लगा ताे स्वजन ने भाेपाल में रहने वाली घनश्याम की चचेरी बहन आरती काे सूचना दी।

रात भर पटरी पर पड़ा रहा शव

घनश्याम की चचेरी बहन आरती शनिवार सुबह एमपी नगर थाने पहुंची अौर घनश्याम के लापता हाेने की जानकारी दी। पुलिस ने उससे घनश्याम का माेबाइल नंबर ले लिया। डायल करने पर फाेन बंद मिला। इस बीच सुबह करीब साढ़े 11 बजे आओबी के पास रेल पटरी कर किसी युवक का शव पड़ा हाेने की सूचना मिली। मृतक की शिनाख्त घनश्याम पटेल के रूप में हुई।

सदमे में परिवार के लाेग

घनश्याम दाे भाइयाें में छाेटा था। उसके पिता किसान हैं। अभी उसकी शादी भी नहीं हुई थी। गुरुवार काे घनश्याम ने फाेन पर अपने परिवार के लाेगाें से बात भी की थी। तब भी वह खुश था। उसने किसी तरह की काेई समस्या भी नहीं बताई थी। पुलिस के मुताबिक घनश्याम के शरीर पर ट्रेन की टक्कर से चाेट लगने के निशान है। प्रारंभिक तौर पर यह हादसा प्रतीत हाे रहा है। पुलिस मामले की जांच कर रही है।

Posted By: Lalit Katariya

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close