भोपाल, नवदुनिया प्रतिनिधि। राजधानी में लोकायुक्त शनिवार को एक राजस्‍व निरीक्षक (आरआइ) को 25 हजार रुपये की रिश्वत लेते हुए रंगे हाथों धर दबोचा। आरोपित ने एक फरियादी से भूमि के सीमांकन करवाने के लिए 30 हजार रुपए की रिश्वत मांगी थी। इसके बाद फरियादी ने लोकायुक्त एसपी से शिकायत कर दी थी। इसके बाद लोकायुक्त ने शिकायत की जांच करवाई और फिर योजनाबद्ध तरीके से आरआइ को रिश्वत लेते हुए पकड़ लिया। आरोपित के खिलाफ भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम के तहत प्रकरण दर्ज किया गया है।

लोकायुक्त एसपी मनु व्यास ने बताया कि फरियादी जीपी त्रिपाठी ने 10 मई को शिकायती आवेदन देते हुए बताया था कि उनकी ग्राम हिनोतिया तहसील कोलार में उनकी पांच हजार वर्गफीट जमीन है। जिसका सीमांकन करवाया जाना था। इसके लिए इलाके के तहसीलदार ने राजस्व निरीक्षक अनिल मालवीय को कहा था। इस पर अनिल मालवीय ने फरियादी को उनके निवास के पास स्थित दफ्तर बुलाया और भूखंड, बटान एवं सीमांकन करने के लिए 30 हजार रुपये की मांग की। आखिर 25000 रुपये पर बात तय हुई। फरियादी ने इसकी शिकायत लोकायुक्त कार्यालय में की। लोकायुक्‍त द्वारा सत्यापन कराया गया तो शिकायत सही पाई गई। आरोपित आरआइ अनिल ने शनिवार को फरियादी को 25 हजार रुपये के साथ बुलाया। अनिल ने अपने निजी सहयोगी हुकुम सिंह के द्वारा रिश्वत ली। इसी दौरान लोकायुक्त की टीम ने दोनों को रंगेहाथ उनके दफ्तर से रिश्वत लेते हुए दबोच है। लोकायुक्त ने दोनों के खिलाफ कार्रवाई कर जांच शुरू कर दी है।

Posted By: Ravindra Soni

NaiDunia Local
NaiDunia Local