Bhopal Crime News:भोपाल (नवदुनिया प्रतिनिधि)। मिसरोद थाना इलाके में रहने वाले रेलवे के अधिकारी की बेटी ने शुक्रवार-शनिवार की दरमियानी रात को अपने कमरे में फांसी लगा ली। मौके से सुसाइड नोट नहीं मिलने से अभी खुदकुशी की वजह पता नहीं चल सकी है। पुलिस मामले की जांच कर रही है।

मिसरोद थाना पुलिस ने मुताबिक रोहताश भटनागर मंडल रेल प्रबंधक (डीआरएम) कार्यालय भोपाल में ओएस के पद पर पदस्थ हैं। उनकी पत्नी प्रेमलता भटनागर एक नर्सिंग कॉलेज में प्राचार्य हैं। भटनागर परिवार मिसरोद स्थित ईडन पार्क कॉलोनी में मकान नंबर ए-1/504 में रहता है। परिवार में दो बेटों के अलावा बेटी यशी भटनागर (24)भी थी। दोनों बेटे नौकरी करने के कारण परिवार से अलग रहते हैं। रोहताश भटनागर ने रात करीब ढाई बजे डायल-100 को बेटी यशी द्वारा फांसी लगाने की सूचना दी गई थी। इसके बाद पुलिस मौके पर पहुंची और शव जब्त किया। कमरे की तलाशी के दौरान कोई सुसाइड नोट नहीं मिला है। इस वजह से अभी यह पता नहीं चल सका है कि आखिर यशी ने इस तरह का कदम क्यों उठाया।

मां ने देखा, बेटी ने पंखे से दुपट्टा बांधकर फांसी लगा ली थी

रोहताश ने पुलिस को बताया कि शुक्रवार रात को खाना खाना खाने के बाद वे लोग अपने कमरे में साने चले गए थे। यशी भी अपने कमरे में सोने चली गई थी। रात करीब ढाई बजे उनकी पत्नी बाथरूम जाने के लिए उठी। उन्होंने बेटी यशी को कमरे में पंखे के नीचे खड़े देखा। आवाज देने पर यशी ने कोई जवाब नहीं दिया तो मां ने पास जाकर देखा। यशी ने पंखे से दुपट्टा बांधकर फांसी लगा ली थी। प्रेमलता ने पति को उठाया। दोनों ने मिलकर फंदा काटकर यशी को चेक किया तो उसकी मौत हो चुकी थी। इसके बाद उन्होंने पुलिस को सूचना दी। पुलिस मर्ग कायम कर मामले की जांच कर रही है।

Posted By: Lalit Katariya

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close