Bhopal Crime News: भोपाल, नवदुनिया प्रतिनिधि। एक करोड़ 32 लाख रुपये की ठगी में फरार दंपती को एमपी नगर पुलिस ने गिरफ्तार किया है। आरोपित सेवानिवृत्त पुलिस अधिकारी के मकान में किराए से दानिशकुंज में रह रहे थे। पुलिस को उसकी जनवरी 2022 से तलाश थी। उसके खिलाफ 8 स्थायी वारंट जारी हो चुके थे। एक पुताई करने वाले युवक की सूचना पर पुलिस ने आरोपित को दबोच लिया। पुलिस दंपती से पूछताछ कर रही है।

एमपी नगर थाना प्रभारी सुधीर अरजरिया के मुताबिक 14 जनवरी 2022 को पंकज खरे ने इस संबंध में शिकायत की थी। आवेदन जांच में पुलिस ने पाया कि आरोपित दंपती छाया भदौैरिया (60) और उनके पति राजेंद्र भदौरिया (68) ने पीडि़त से 15 लाख रुपये लेकर एक प्लाट का विक्रय अनुबंध किया था। जबकि यह प्लाट विवादास्पद होने पर पूर्व से बैैंक आफ महाराष्ट्र कोलार रोड में 17 लाख रुपये सीसी लिमिट के लिए बंधक था। इस पर पुलिस ने आरोपित दंपती के खिलाफ धोखाधड़ी और अमानत में खयानत का केस दर्ज कर जांच की। आरोपितों ने एक ही प्लाट को तीन बार अलग-अलग बैैंक व व्यक्ति को विक्रय व गिरवी रख रकम ऐंठ ली। पुलिस आरोपितों की तलाश में जुटी थी, लेकिन उनका सुराग नहीं लग रहा था। पुलिस को सिर्फ इतना पता था कि वह दानिशकुंज में कहीं रहता है और भदौरिया ट्रांसपोर्टर के नाम से फेमस है। आरोपित राजेंद्र ने अपना रूप बदल लिया था। वह बड़ी दाढ़ी रखा था। तभी पुलिस को पता लगा कि बीते दिनों भदौरिया ट्रांसपोर्टर के नाम से फेमस व्यक्ति ने दीवाली पर पुताई कराई थी। पुताई के लिए एक मजदूर उनके घर गया था। पुलिस ने उस मजदूर की तलाश की। उसने घर बताया। आरोपित यहां एक सेवानिवृत्त वरिष्ठ पुलिस अधिकारी के मकान में रह रहे थे। जिन्हें पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। दोनों आरोपितों पर पांच हजार रुपये का इनाम घोषित था। फिलहाल पुलिस आरोपित दंपती से पूछताछ कर रही है। जिसके मकान में किराये से रहते थे, उनको पता नहीं था।

Posted By: Lalit Katariya

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close