Bhopal Crime News : भोपाल (नवदुनिया प्रतिनिधि)। सेंट्रल जेल में बंद हत्या के दोषी कैदी ने गुरुवार सुबह शौचालय में फांसी लगा ली। पेरोल पर छूटकर फरार हुए बंदी को पुलिस ने हाल ही में गिरफ्तार कर जेल में दाखिल किया था। मामले की न्यायिक जांच शुरू कर दी गई है।

गांधीनगर थाना पुलिस के मुताबिक ताजपुर जिला रायसेन निवासी खेमचंद पुत्र कल्याणसिंह (35) जेल के खंड-अ के आइसोलेशन वार्ड-छह में बंद था। सुबह करीब पौने नौ बजे उसने शौचालय में फांसी लगा ली। खेमचंद हत्या के मामले में आजीवन कारावास की सजा काट रहा था। कोरोना काल में उसे पेरोल पर छोड़ा गया था, लेकिन वह जेल वापस लौटने के बजाए फरार हो गया था। जेल प्रशासन की शिकायत पर गांधी नगर पुलिस ने उसके खिलाफ हिरासत से भागने का केस दर्ज किया था। 20 जून को पुलिस ने उसे रायसेन से गिरफ्तार कर लिया था। इसके बाद उसे फिर जेल भेज दिया गया था।

2012 में की थी हत्या

जेलर पीडी श्रीवास्तव ने बताया कि खेमचंद ने रायसेन में वर्ष-2012 में लूट, हत्या की वारदात को अंजाम दिया था। इस मामले में वर्ष-2014 में उसे आजीवन कारावास की सजा सुनाई गई थी। वह तभी से जेल में था। कोरोना काल में खेमचंद को अन्य बंदियों के साथ पेरोल का लाभ दिया गया था। पेरोल से फरार होने के बाद गिरफ्तार होकर जेल आए खेमचंद को जेल के आइसोलेशन वार्ड में रखा गया था। उसने चादर का कपड़ा फाड़कर उसे शौचालय के रोशनदान की रॉड में बांधकर फंदा लगा लिया था। इस मामले की न्यायिक जांच शुरू हो गई है। इसी क्रम में न्यायाधीश कृष्णपालसिंह ने घटनास्थल का मौका मुआयना भी किया।

सीहोर जेल में भी हुई थी घटना

इंदौर निवासी सागर सोनी ने एक जून को सीहोर के पास चलती ट्रेन में एक युवती की हत्या कर दी थी। दो जून को पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर सीहोर जेल भेज दिया था। सात जून को सागर ने अपनी बैरिक में फांसी लगा ली थी।

Posted By: Lalit Katariya

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

NaiDunia Local
NaiDunia Local
 
Show More Tags