Bhopal Crime News: भोपाल, नवदुनिया प्रतिनिधि। खूजरी सड़क इलाके में कशिश जायसवाल नाम की युवती की हत्या करने के बाद उसके फरार प्रेमी को यूपी से पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। भोपाल पुलिस टीम उसे वापस लेकर आ गई है और फिलहाल उससे पूछताछ की जा रही है।

पुलिस पूछताछ में आरोपित अख्‍तर कुरैशी ने हत्‍या की बात कबूल करते हुए कहा कि युवती उसे मानो एटीएम समझने लगी थी। जब चाहे पैसे मांगती रहती थी। उसे मैंने स्कूटर दिलवाया, उसका पूरा खर्च उठाता था, लेकिन वह दूसरे युवकों से दोस्ती करने में ज्यादा दिलचस्पी दिखाती थी। आरोपित के मुताबिक वह उससे शादी करना चाहता था, लेकिन युवती शादी करने की बात पर बहाने बना जाती थी। पुलिस को अभी वह चाकू भी बरामद करना है, जिससे युवती की हत्‍या की गई थी।

बता दें कि तीन दिन पहले खजूरी सड़क के भौरी बंगला गांव के नाले में एक सफेद रंग की बोरी में महावीर नगर निवासी 20 साल की कशिश जायसवाल की लाश मिली थी। उसके परिजनों ने उसके गायब होने की जानकारी भी पुलिस को दी थी। बाद में उसकी हत्या की खबर आरोपित अख्तर अली ने युवती के मामा को फोन दी थी। हत्या के बाद आरोपित फरार हो गया था। पुलिस को उसकी लोकेशन मुजफरनगर यूपी में मिली थी। जहां पहुंचकर भोपाल पुलिस की टीम ने उसे दबोच लिया।

इंटरनेट मीडिया पर हुई थी दोस्ती :- आरोपित ने पुलिस को बताया कि इंटरनेट मीडिया के माध्यम से दोस्ती हुई थी। उसके बाद दोनों ने एक-दूसरे को मोबाइल नंबर देकर मिलना-जुलना शुरू कर दिया था। आरोपित अख्तर अली का कहना है कि कशिश को उससे ज्यादा उसके पैसों में दिलचस्पी रहती थी। उसका पूरा खर्चा खुद उठाने की बात कह रहा है। उसके घूमना फिरना यहां तक उसके के लिए कपड़े भी वह दिलाता था। आरोपित के मुताबिक युवती की उसके अलावा कई युवकों से दोस्ती थी। वह उसे धोखा दे रही थी।

एसपी ने लव जिहाद से किया इंकार

भोपाल नार्थ एसपी विजय खत्री से जब नवदुनिया के संवाददाता ने सवाल किया कि क्‍या अख्तर अली कशिश पर धर्म-परिवर्तन का दबाव बना रहा था, तो उन्‍होंने इससे साफ इंकार कर दिया था। उनका कहना था कि युवती के परिवार को पता था कि आरोपित दूसरे धर्म का है। वह उनके घर भी आता जाता था। इसके लिए उसने अपनी पहचान छिपाई नहीं थी। लिहाजा, इसे लव जिहाद नहीं कहा जा सकता।

Posted By: Ravindra Soni

NaiDunia Local
NaiDunia Local