भोपाल (नवदुनिया प्रतिनिधि)। कोलार इलाके में 23 वर्षीय छात्रा के साथ दुष्कर्म की कोशिश और जानलेवा हमले में टीआइ और एसआइ को लापरवाही के बाद हटा दिया गया था। अब एक बार फिर से कोलार थाने में पूर्व लापरवाह रहे चंद्रकांत पटेल को कोलार का नया थाना प्रभारी बना दिया गया है। इस कारण कोलार थाना फिर चर्चा में है। अब सवाल उठ रहे है कि आखिर इस थाने में महिलाओं के प्रति लापरवाही करने वाले टीआइ को ही क्यों थाना प्रभारी बनाया गया? अखिरकार इसकी जरूरत क्या थी। हम बता दें कि कोलार पुलिस ने 16 जनवरी को नर्सिंग की छात्रा के साथ जानलेवा हमले और दुष्कर्म की कोशिश के मामले में लापरवाही दिखाकर उसमें मामूली धाराओं को लगा दिया गया था। जिसके बाद एक माह पीड़िता और उसकी मां ने सामने आकर कोलार थाना पुलिस पर इस पूरे मामले में लापरवाही बरतने के आरोप लगाकर सनसनी फैला दी थी।

डीजीपी के निर्देश पर शुरू हुई थी जांच

अरेरा कॉलोनी की दोनों ने झूठी एफआइआर दर्ज कराने के मामले में डीजीपी विवेक जौहरी के पास शिकायत की थी। जिस पर डीजीपी ने पूर्व आइजी उपेंद्र जैन को इस मामले में जांच कराने के लिए कहा गया था। इसके बाद टीआइ शाहपुरा की एएसपी जोन -2 ने जांच शुरू की थी।

थानाप्रभारी रहते महिलाओं पर करा दी थी गलत एफआइआर

अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक ने अपने आला अधिकारियों के निर्देश के बाद इस पूरे मामले में जांच की थी, जांच में टीआइ चंद्रकांत पटेल के बारे में पाया गया था कि चंद्रकांत पटेल के निर्देश पर ही दोनों महिलाओं और उनके दोस्तों पर कार्रवाई आबकारी एक्ट की गलत एफआइआर दर्ज की गई थी। नवदुनिया के पास उस जांच रिपोर्ट की कॉपी मौजूद है। इसमें इनके थानाप्रभारी रहते थाने के स्टाफ पर नियंत्रण का अभाव और नेतृत्व क्षमता पर सवाल उठाए गए थे।

आला अधिकारियों को पूरी घटना पता, फिर बनाया प्रभारी

आला अधिकारियों को 9-10 अगस्त 2020 को उस रात का पूरा घटनाक्रम पता है। जिसमें महिलाएं अपने पति दोस्त के घर के अंदर खाना खा रही थी और उन पर सड़क पर हंगामा करने उल्लेख कर उनके खिलाफ आबकारी एक्ट का मामला दर्ज किया गया था। बाद में जांच में यह पुलिस कार्रवाई गलत मिली। इसके बाद थाना प्रभारी को ऐसे थाने में पदस्थ किया गया, जहां के थाना प्रभारी को महिला अपराध में लापरवाही पर हटाया गया। उसके बाद नए भी महिलाओं को गलत केस दर्ज करने में जांच में उन पर लगे आरोप सही पाए गए थे। आला अधिकारियों के इस निर्णय पर भी सवाल खड़े हो रहे हैं।

Posted By: Lalit Katariya

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags